कैलाश विजयवर्गीय बोले- ‘मजदूरों के खाने के तरीके से पता लगाया कि वो बांग्लादेशी हैं’

देशभर में इन दिनों नागरिकता संशोधन कानून को लेकर विरोध प्रदर्शन चल रहा है। इसी बीच भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता कैलाश विजयवर्गीय ने बयान दिया है कि मैं मेरे घर में काम करने वाले मजदूरों के खाने के स्टाइल से समझ गया कि वे बांग्लादेशी हैं।

0
709

नई दिल्ली: देशभर में इन दिनों नागरिकता संशोधन कानून को लेकर विरोध प्रदर्शन चल रहा है। इसी बीच भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता कैलाश विजयवर्गीय ने बयान दिया है कि मैं मेरे घर में काम करने वाले मजदूरों के खाने के स्टाइल से समझ गया कि वे बांग्लादेशी हैं।

बता दें कि कैलाश विजयवर्गीय ने गुरुवार को एक संगोष्ठी को संबोधित करते हुए कहा, ‘जब हाल में ही मेरे घर में एक कमरे के निर्माण का काम चल रहा था तो कुछ मजदूरों के खाना खाने का स्टाइल मुझे अजीब लगा। वे केवल पोहा खा रहे थे। मैंने उनके सुपरवाइजर से बात की और शक जाहिर किया कि क्या ये बांग्लादेशी हैं। इसके दो दिन बाद सभी मजदूर काम पर आए ही नहीं।’

ये भी पढ़ें- यूपी के स्थापना के 70 साल पूरे, योगी सरकार जनता को देगी कई सौगात

उन्होंने आगे कहा, ‘मैंने अभी तक इस मामले में शिकायत नहीं दर्ज कराई है। मैं केवल जिक्र करते हुए आप लोगों को आगाह करना चाहता हूं। इसके साथ ही उन्होंने इसे देश की सुरक्षा के लिए खतरा बताते हुए कहा कि ये देश की सुरक्षा के खतरा है। मैं जब बाहर जाता हूं तो मेरे साथ 6 सुरक्षाकर्मी चलते हैं, क्योंकि घुसपैठिए देश का माहौल बिगाड़ रहे हैं।’

वहीं, नागरिकता संशोधन कानून का समर्थन करते हुए उन्होंने कहा, ‘अफवाहों से गुमराह मत हो, सीएए में देश का हित है। यह कानून वास्तविक शरणार्थियों को नागरिकता देगा और घुसपैठियों की पहचान होगी, जो देश की आंतरिक सुरक्षा के लिए खतरा हैं।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here