Bihar Election 2020: महागठबंधन में सीटों पर तकरार, छोटे दल बरकरार

बिहार विधानसभा चुनाव में गठबंधन को लेकर अब भी मंथन जारी है। तारीखों के एलान के बाद गंठबधन की तस्वीर साफ नही हैं।

0
188
Vidhansabha Election 2020
बिहार विधानसभा चुनाव में गठबंधन को लेकर अब भी मंथन जारी है। तारीखों के एलान के बाद गंठबधन की तस्वीर साफ नही हैं।

Bihar: विधानसभा चुनाव (Bihar Vidhansabha Election 2020) में गठबंधन को लेकर अब भी मंथन जारी है। चुनाव की तारीखों के एलान के बावजूद गंठबधन की तस्वीर साफ होती नजर नहीं आ रही, दो दिनों बाद से 71 सीटों पर नामांकन शुरु कर दिया जाएगा, लेकिन बिना गठबंधन की तस्वीर साफ किए कैसे होगा चुनाव? एनडीए में जहां लोजपा के तेवर तेज हैं, वहीं महागठबंधन से रालोसपा का बाहर जाना तय माना जा रहा है। कांग्रेस भी 243 सीटों पर अपनी तैयारी का दावा कर रही है। उधर, छोटे-छोटे दल गठबंधन बनाकर चुनाव में जीतने की तैयारी में लगे हुए है।

BJP के हाथ लगा नया चिराग, पासवान देखते रहे राह

एनडीए में लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान (Chirag Paswan) एक तरफ भाजपा से निकटता बनाए रख रहे हैं, तो दूसरी तरफ जदूय के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। वह 143 सीटों पर प्रत्याशी उतारने के दावे (Bihar Vidhansabha Election 2020) कर रहे हैं। 143 सीटों के इस दावे का बीजेपी के खिलाफ प्रत्याशी नहीं देंगे। लेकिन यह बात सीधे तौर पर लोगों को हजम नहीं हो रही। दरअसल एनडीए में यह तय हो चुका है कि सीटों का बंटवारा जदयू और बीजेपी के बीच होगा और ये दोनों दल अपने हिस्से से सीटें नही छोड़ेंगे। ऐसे में जदयू से चिराग पासवान की नाराजगी के साफ देखने को मिल रही है।

तारीखों का हुआ ऐलान, तीन फेज में वोटिंग, 10 नवंबर को आएंगे नतीजे

इन सब के बीच छोटे दलों ने आपस में गठबंधन बनाकर एनडीए और महागठबंधन के जनाधार में सेंध (Bihar Vidhansabha Election 2020) लगाने की काम किया है। वहीं जाप के अध्यक्ष पप्पू यादव ने सोमवार को प्रगतिशील लोकतांत्रिक गठबंधन बनाने की घोषणा की। इस गठबंधन में आजाद समाज पार्टी, सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी और बहुजन मुक्ति पार्टी शामिल है। कई और छोटे-छोटे दलों की आपसी बातचीत जारी है। हालांकि इन दलों का किसी चुनाव में कोई बड़ा जनाधार सामने नहीं आया है।

बिहार चुनाव (Bihar Vidhansabha Election 2020) में इस बार एक अलग तरीके की राजनीति शुरु हो गई है। गठबंधन के अंदर गठबंधन का दौर चल रहा है। गठबंधन के दो बड़े मुख्य घटकदल अपने-अपने साथ छोटे दल को लेकर चल रहे हैं। इस तरह बड़े दल की छांव में छोटे दल चुनाव लड़ रहे हैं। यह नया प्रयोग एनडीए और महागठबंधन दोनों ही खेमे में नजर आ रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here