इस्लामिक आतंकवाद पर होगा प्रहार, रूस ने दी चेतावनी

0
250
Armenia-Azerbaijan Fight
आर्मोनिया-अजरबैजान के बीच युद्ध की लहर जारी है। इसी बीच रुस को इस बात का पता चल गया है। इस्लामिक आंतकवाद पर प्रहार।

Russia: आर्मोनिया-अजरबैजान के बीच युद्ध की (Armenia-Azerbaijan Fight) लहर जारी है। इसी बीच रुस को इस बात का पता चल गया है। सीरिया से भेजे गए आतंकवादी नागोर्नो-काराबाख के रास्ते रूस में दस्तक दे सकते हैं। इस खुफिया रिपोर्ट के सामने आते ही रूस के राष्ट्रपति (Armenia-Azerbaijan Fight) व्लादमीर पुतिन ने इस्लामिक आतंकवादियों को सबसे बड़ी चेतावनी दी है।बता दें तुर्की पर आरोप है कि उसने अपने पैसों के दम पर सीरिया के आतंकवादियों को अजरबैजान की तरफ से लड़ाई लड़ने के लिए भेजा है।

रूस की वैक्सीन को बड़ा झटका, भारत ने बड़े स्तर पर ट्रायल की नहीं दी मंजूरी

आर्मेनिया के मित्र देश रूस की इंटेलीजेंस को इस्लामिक आतंकवाद की इस इंटरनेशनल साजिश की पूरी जानकारी है। रूस के फॉरेन इंटेलिजेंस (Armenia-Azerbaijan Fight) सर्विस के प्रमुख सर्गेई नार्य स्किन का कहना है कि युद्ध क्षेत्र में जो भाड़े के सैनिक आ रहे हैं। रूस पहले से ही हजारों आतंकवादियों से जूझ रहा है। अब इस तरह के आंतकवादियों ने रुस के नाक में दम कर रखा हैं। 

रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने इस साज़िश पर गहरी चिंता जताई। वहीं रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने अपनी इंटेलीजेंस रिपोर्ट देखने के बाद आतंकियों की (Russia News) नींद उड़ाने वाली घोषणा की। उन्होंने खुलकर आर्मेनिया का साथ देने का ऐलान कर दिया है। तो वहीं पुतिन ने कहा कि बड़े दुख के साथ कहना पड़ रहा है कि आज के दौर में भी दुशमनी जारी है। उन्होंने कहा कि जहां तक रूस और आर्मेनिया के सैन्य समझौतों की बात है तो रूस ने अपना दायित्व हमेशा पूरा किया है और आगे भी करेगा। उनके इस बयान को अजरबैजान-तुर्की समेत दुनिया के लिए बड़ा संदेश माना जा रहा है। 

एक लाख रुपये का नोट ला रहा यह देश, मिलेंगे सिर्फ दो किलो आलू

रूस के रक्षा विशेषज्ञों के मुताबिक रूस कभी भी अपने पड़ोस में इस्लामिक (Russia News) आतंकवादियों का लॉन्च पैड नहीं बनने देगा. ऐसे में वह हर हाल में आर्मेनिया का साथ देगा. इस्लामिक आतंकवाद की साजिश पर वह तुर्की से बदला भी ले सकता है। दरअसल आर्मेनिया-अजरबैजान की लड़ाई में इस्लामिक आतंकवाद का जहर घोलने वाले देश तुर्की से रूस बहुत नाराज है।

रूस के साथ ही अब ईरान ने भी बड़ी चेतावनी जारी की है। ईरान की सीमा अजरबैजान और आर्मेनिया से लगती है. ऐसी खबरें हैं कि लड़ाई के दौरान कुछ गोले और रॉकेट ईरान (Russia News) की सीमा में उसके गांवों में भी गिरे हैं। इसके बाद ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने बयान जारी किया है। ईरान ने कहा कि हमारी प्राथमिकता हमारे शहरों और गांवों की सुरक्षा है। यदि ईरान की मिट्टी पर गलती से भी मिसाइल या गोले गिरे तो ये उन्हें मंजूर नहीं होगा और उसका भरपूर जवाब दिया जाएगा। ईरान ने सीमा पर अपनी सेनाओं को भी अलर्ट कर दिया है। 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here