राहुल गांधी को अमित शाह की चुनौती, कहा- दो-दो हाथ हो जाएं

उन्होंने कहा कि राहुल गांधी इस समय एक छिछली सोच वाली राजनीति में शामिल हैं. शाह ने कहा कि चीन के मुद्दे पर बहस के लिए तैयार हैं.

0
463
Amit Shah in AIIMS
थकान और चक्कर के कारण अमित शाह हुए AIIMS में भर्ती, कोरोना रिपोर्ट आई निगेटिव

Delhi: कुछ दिन पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने चीन (India China Border Issue) के मुद्दे पर पीएम मोदी (PM Modi) पर निशाना साधते हुए कुछ सवाल पूछे थे. जिसके बाद आज केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने कांग्रेस (Congress) नेता राहुल गांधी को संसद में बहस की चुनौती दी है. न्यूज ANI से बातचीत में अमित शाह (Amit Shah) से राहुल गांधी की ओर से हाल ही में चीन के मुद्दे पर पीएम मोदी पर किए गए हमले को लेकर सवाल पूछा गया था. उन्होंने कहा, पार्लियामेंट होनी है, चर्चा करनी है तो आइये, करेंगे. 1962 से आज तक दो-दो हाथ हो जाएं. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी इस समय एक छिछली सोच वाली राजनीति में शामिल हैं. शाह ने कहा कि चीन के मुद्दे पर बहस के लिए तैयार हैं.

भारत मित्रता निभाने के साथ जवाब देना भी जानता है: पीएम मोदी

कोरोना और सीमा पर जारी तनाव को लेकर उन्होंने (Home Minister Amit Shah) कहा कि साफ कर दूं कि पीएम मोदी की अगुवाई में भारत दोनों ही लड़ाई जीतने जा रहा है. उन्होंने (Amit Shah) कहा कि भारत सरकार कोरोना से बहुत अच्छी से लड़ रही है. इसके साथ अमित शाह ने कहा कि वह राहुल गांधी को सलाह नहीं दे सकते हैं यह उनके पार्टी नेताओं की काम है. शाह ने कहा कि कुछ लोगों की वक्रदृष्टि होती है ऐसे लोग सही में भी हमेशा गलत ढूंढते हैं. शाह ने कहा कि कोरोना से भारत अच्छी तरह से लड़ा है और हमारे नंबर बाकी देशों से अच्छे हैं.

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए अमित शाह ने कहा कि इंदिरा जी के बाद क्या गांधी परिवार के अलावा भी कोई अध्यक्ष रहा है. किस लोकतंत्र की वे बात कर रहे हैं. मैंने किसी कोरोन संकट के समय किसी भी तरह की राजनीति नहीं की है. मैं बीते 10 सालों से 25 जून के दिन ट्वीट करता हूं. उन्होंने कहा कि आपातकाल को लोगों को हमेशा याद रखना चाहिए क्योंकि इसने लोकंतत्र की जड़ों पर हमला किया. किसी भी नागरिक या राजनीतिक कार्यकर्ता को भूलना नहीं चाहिए.

पिछले 24 घंटे में 20 हजार के करीब नए कोरोना मामले

गृहमंत्री शाह ने कहा कि वो भारत के खिलाफ चलाए जा रहे प्रोपेगेंडा से निपटने में सक्षम हैं लेकिन यह दुख की बात है कि एक बड़ी पार्टी के पूर्व अध्यक्ष कोरोना संकट के समय ओछी राजनीति कर रहे हैं. यह विषय उनके और उनकी पार्टी के लिए फिर से विचार के लिए है. उनके ट्वीटर उनकी ओर से चलाए जा रहे हैशटैग चीन और पाकिस्तान का समर्थन मिल रहा है.

वहीं दिल्ली में कोरोना वायरस के संक्रमण के मुद्दे पर अमित शाह ने कहा कि वह उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के कथन से असहमत हैं कि दिल्ली में जुलाई के अंत तक 5.5 लाख केस हो जाएंगे. उनको कहा कि इससे लोगों में भय फैल गया. अमित शाह ने कहा, मुझे पक्का विश्वास है कि ऐसी स्थिति नहीं होगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here