इस पेटर्न पर ऐश्वर्या श्योरान ने तय किया मॉडलिंग से UPSC तक का सफर

उन्होंने बताया, मैंने दिल्ली टाइम्स फ्रेश फेस के साथ अपना सफर शुरू किया था और उसके बाद कई अन्य प्रोजेक्ट मेरे पास आए.

0
369
Aishwarya Sheoran
इस पेटर्न पर ऐश्वर्या श्योरान ने तय किया मॉडलिंग से UPSC तक का सफर

Delhi: कुछ दिनों पहले UPSC सिविल सर्विस की साल 2019 में हुआ परिक्षा के रिजल्ट की घोषणा की गई थी. रिजल्ट में पूर्व मिस इंडिया फाइनलिस्ट ऐश्वर्या श्योरान (Aishwarya Sheoran) का नाम भी UPSC 2019 के सफल उम्मीदवारों (UPSC Result) की लिस्ट में है. उन्होंने इस परीक्षा में 93 रैंक हासिल की है. ऐश्वर्या श्योरान ने बताया है कि उन्होंने कैसे मॉडल से UPSC तक का सफर तय किया और किस पेटर्न पर तैयारी कर सफलता हासिल की. ऐश्वर्या ने ग्लैमर की दुनिया से यूपीएससी की पढ़ाई के लिए कुछ नियम बनाए और उन्हें फॉलो किए. उन्होंने बताया, मैंने दिल्ली टाइम्स फ्रेश फेस के साथ अपना सफर शुरू किया था और उसके बाद कई अन्य प्रोजेक्ट मेरे पास आए, मुझे मॉडलिंग इंडस्ट्री में कदम रखने के लिए मिस इंडिया में भाग लेने के लिए भी कहा गया था.

टेबलटॉप रनवे के कारण केरल में हादसे का शिकार हुआ विमान !

ऐश्वर्या (Aishwarya Sheoran) ने कहा कि, मॉडलिंग की दुनिया में अपने पैर जमाना मेरी मां का सपना था. वह हमेशा चाहती थीं कि मैं इस क्षेत्र में जाऊं, इसीलिए उन्होंने मेरा नाम भी अभिनेत्री ऐश्वर्या राय (Aishwarya Rai) के नाम पर रखा था. मॉडलिंग मेरे लिए एक संयोग के रूप में आई. जब मैं शॉपिंग मॉल में अपनी मां के साथ खरीदारी कर रही थी तो वहां आयोजित दिल्ली टाइम्स फ्रेश फेस प्रतियोगिता में भाग ले लिया. मॉडलिंग की यात्रा वहीं से शुरू हुई. और जब अपने कॉलेज के सेकंड ईयर में थीं, तब मिस इंडिया प्रतियोगिता में भाग लिया था, जिसके बाद उन्हें मॉडलिंग असाइनमेंट्स के कई ऑफर आने लगे.

भारत में एक बार फिर 24 घंटे में 60 हजार से ज्यादा कोरोना मामले

उन्होंने बताया, मेरा मन यूपीएससी परीक्षा देने का था. जिसके बाद मई 2018 तक अपने सभी मॉडलिंग असाइनमेंट को पूरा कर खुद को सिविल सर्विसेज की तैयारी के लिए समर्पित कर दिया. मैंने सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से खुद को पूरी तरह से दूर कर लिया था. मैं किसी भी तरह की ऐसी चीज नहीं करना चाहती थी जिससे मेरा ध्यान भटके. ऐश्वर्या ने बताया कि यूपीएससी के लिए उन्होंने एक बहुत ही सरल लेकिन कड़ी मेहनत करने वाली तकनीक लागू की. उन्होंने बताया, मेरे पास हमेशा एक सरल तकनीक थी जिसका मैंने 2018-2019 के दौरान पालन किया. मैंने साल 2018 में यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी थी. मेरी सफलता का मंत्र 10 + 8 + 6 है यानी 10 घंटे पढ़ाई, 8 घंटे की नींद और 6 घंटे की अन्य एक्टिविटिज करना.

Electrical Vehicle Policy: दिल्ली वालों के लिए खुशखबरी, ई-व्हीकल पॉलिसी को मिली मंजूरी

आपकों बता दें कि, ऐश्वर्या ने ये सफलता बिना किसी कोचिंग क्लास के हासिल की है. उन्होंने कहा, “मेरी राय में, कोचिंग में शामिल होना एक व्यक्तिगत पसंद है. मैं बचपन से ही हमेशा सेल्फ स्टडीज के फॉर्मूले पर विश्वास करती हूं.” ऐश्वर्या शुरुआत में साइंस की स्टूडेंट थीं. लेकिन बाद में उन्होंने दिल्ली के श्रीराम कॉलेज आफ कॉमर्स में एडमिशन लिया. उनके पिता कर्नल अजय कुमार एनसीसी तेलंगाना बटालियन के कमांडिंग आफिसर हैं. बता दें कि यूपीएससी यानी संघ लोक सेवा आयोग ने 2019 सिविल सर्विस एग्जाम के नतीजे मंगलवार को जारी किए. इसमें हरियाणा के प्रदीप सिंह ने टॉप किया है. दूसरे नंबर पर जतिन किशोर और तीसरे स्थान पर सुल्तानपुर की प्रतिभा वर्मा ने जगह पाई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here