कोरोना संकट में योगी प्लान. UP में 10 हजार गाड़ियां घरों में पहुंचाएंगी राशन आदि…

0
173
सीएम योगी आदित्यनाथ

भारत में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 दिनों के लॉकडाउन का ऐलान किया है. लॉकडाउन के दौरान यूपी के लोगों को कोई परेशानी न हो इसके लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सूबे एक अहम फैसला लिया.

बता दें कि सीएम योगी के इस फैसले के अनुसार, सूबे में योगी ने 10 हजार गाड़ियों का खास इंतजाम किया है. इन गाड़ियों के जरिए जरूरतमंदों के घरों तक दूध, दवाइयों और राशन पहुंचाने का काम सरकार करेगी. दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार रात 8 बजे जैसे ही लॉकडाउन की घोषणा की वैसे ही लोग अपने घरों से बाहर निकल बाजार में आ गए थे. इसके बाद मुख्यमंत्री योगी ने ऐलान किया कि किसी को भी घबराने की जरूरत नहीं है.

योगी ने कहा, ‘मैं उत्तर प्रदेश के 23 करोड़ लोगों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि हमारे पास सब्जियों, दूध, दवाइयों का पूरा स्टॉक है. अपने और अपने परिवार की सुरक्षा के लिए आप लोग घर से बाहर न निकलें और सामाजिक दूरी बनाए रखें.

सीएम योगी ने सूबे के लोगों को भरोसा दिलाते हुए कहा, लॉकडाउन के दौरान जरूरी सेवाएं देश की जनता को मिलती रहेंगी. राशन, दवाएं, दूध और सब्जियों सहित जरूरत की दुकानें खुली रहेंगी. उन्होंने कहा कि 25 मार्च से सब्जियां, दूध, फल, दवाएं और अन्य जरूरी सामानों को आपके घर पर पहुंचाया जाएगा. इसके लिए हमने 10 हजार गाड़ियों को लगाया है. साथ ही कहा कि जरूरी सामान खरीदने आप लोग बाजार न जाएं.

योगी के ऐलान के बाद उत्तर प्रदेश के कई नगर निकायों ने अपने-अपने शहरों के सब्जियों, राशन-फल और दवाओं के दुकानदारों के नंबर भी जारी किए हैं, जिन्हें फोन करके लोग अपने घरों में जरूरत की चीजें मंगा सकते हैं. इसके जरिए सरकार की कोशिश है कि लॉकडाउन में लोग घरों से बाहर न निकलें.

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच सीएम योगी आदित्यनाथ ने पूरे प्रदेश को पहले से ही लॉकडाउन कर रखा है. इस बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना राहत की पहली किस्त जारी कर दी है. प्रदेश के 20 लाख मजदूरों, हॉकरों और ई-रिक्शा चालकों को एक हजार रुपये की सहायता दी जाएगी. इसके अलावा गरीबों को राशन उपलब्ध कराने का भी आदेश जारी किया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here