निर्भया के दोषियों का फांसी टालने का हथकंडा फेल, कोर्ट ने किया निपटारा

निर्भया गैंगरेप के दोषियों की फांसी की तारीख भी मुकर्रर हो गई है, बावजूद इसके दोषी हैं कि फांसी की सजा से बचने के लिए नए-नए हथकंडे अपना रहे हैं। इस कड़ी में निर्भया के तीन दोषियों ने कोर्ट का रुख करते हुए कहा कि तिहाड़ जेल प्रशासन उनको दस्तावेज मुहैया नहीं करा रहे हैं। इस पर पटियाला हाउस कोर्ट ने कोई भी आदेश देने से इनकार कर दिया।

0
176

नई दिल्ली: निर्भया गैंगरेप के दोषियों की फांसी की तारीख भी मुकर्रर हो गई है, बावजूद इसके दोषी हैं कि फांसी की सजा से बचने के लिए नए-नए हथकंडे अपना रहे हैं। इस कड़ी में निर्भया के तीन दोषियों ने कोर्ट का रुख करते हुए कहा कि तिहाड़ जेल प्रशासन उनको दस्तावेज मुहैया नहीं करा रहे हैं। इस पर पटियाला हाउस कोर्ट ने कोई भी आदेश देने से इनकार कर दिया।

बता दें कि निर्भया कांड के तीन दोषियों विनय, पवन और अक्षय ठाकुर ने कहा है कि तिहाड़ जेल प्रशासन ने उनको दस्तावजे नहीं दिए हैं। जानकारी के लिए बता दें कि दोषी विनय शर्मा ने जेल के अंदर ‘दरिंदा डायरी’ लिखी है, इसमें शायरी लिखी गई है, जो सरकारी वकील ने कोर्ट को सौंप दी। इसके अलावा दोषी विनय ने स्वच्छ भारत अभियान की पेंटिंग भी बनाई है।

ये भी पढ़ें- निर्भया के दोषियों का नया डेथ वारंट जारी, 1 फरवरी को होगी फांसी

रिपोर्ट की मानें तो तिहाड़ प्रशासन ने निर्भया के सभी दोषियों के दस्तावेज, पेंटिंग और डायरी कोर्ट को सौंप दिए हैं। सरकारी वकील का कहना है कि दोषियों को दस्तावेजों की फोटोकॉपी दी गई है, क्योंकि उन्हें ओरिजनल दस्तावेज नहीं दिए जा सकते।

पटियाला हाउस कोर्ट ने निर्भया के दोषियों की अर्जी पर सुनवाई करते हुए शनिवार को कहा कि इस मामले में कोई भी निर्देश देने की कोई जरुरत नहीं है। दोषियों की मांग पर सभी दस्तावेज दे दिए गए हैं। तिहाड़ प्रशासन ने अब किसी भी तरह के दस्तावेज अपने पास होने से इंकार किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here