बीजेपी के आरोप के बाद AAP का जवाब- सीखें शिक्षकों का सम्मान करना

0
75
प्रेस कॉन्फ्रेंस करते मनीष सिसोदिया

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के सांसद परवेश वर्मा और कांग्रेस नेता मुकेश शर्मा ने सीएम के अरविंद केजरीवाल पर आरोप लगाते हुए कहा कि केजरीवाल शिक्षकों को जबरन शपथ ग्रहण में बुलवा रहे हैं। जिसके जवाब में मनीष सिसोदिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दोनों पार्टियों पर पलटवार किया और कहा कि उन्हें शिक्षकों का सम्मान करना सीखना चाहिए।

सिसोदिया ने प्रेस-कॉन्फ्रेंस में कहा कि कांग्रेस और बीजेपी को शिक्षकों का सम्मान करना नहीं आता है, उन्हें शिक्षकों का सम्मान करना सीखना चाहिए।

बता दें कि दिल्ली में अपनी जीत दर्ज करने के बाद अरविंद केजरीवाल एक बार फिर रविवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने जा रहे हैं। इस दौरान उन्होंने शपथ ग्रहण समारोह में शिक्षकों को भी बुलाया है।

सिसोदिया ने शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने वाले लोगों के बारें में बताते हुए कहा कि स्टेज पर 50 मेहमान होंगे,  जिनमें शिक्षक, स्कूल के चपरासी, ओलम्पियाड में शामिल होने वाले सरकारी स्कूल के बच्चे और दिल्ली के निर्माता होंगे। इसके साथ ही शपखथ ग्रहण समारोह में वो बच्चे भी शामिल होंगे जिनको जय भीम का फायदा मिला है। इस दौरान मोहल्ला क्लिनिक के डॉक्टर बाइक एम्बुलेंस के राइडर होंगे।

उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम में फरिस्ते योजना के तहत लोगों की जान बचाने वाले लोगों को भी शामिल होने के लिए बुलाया गया है। इसके साथ ही साथ ही फायर फाइटर, पुलिस फैमिली, सफाई कर्मचारी, बस मार्शल, मेट्रो ड्राइवर, सिग्नेचर ब्रिज बने वाले आर्किटेक्ट, कंस्ट्रक्शन वर्कर, आंगनवाड़ी वर्कर और डोर स्टेप डिलिवरी एग्जिक्यूटिव भी शामिल होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here