कमांडर सुलेमानी की मौत के बदले की आग में ईरान ने की ‘गलती’, अब हो रहा विरोध

ईरान में इन दिनों हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं। अमेरिकी हमले में सर्वोच्च कमांडर कासिम सुलेमानी के मारे जाने के बाद ईरान इंतकाम की आग में झुलस रहा है, लेकिन अमेरिका से बदला लेने के लिए ईरानी सरकार ने यूक्रेन विमान को 'भूलवश' मार गिराया। इसके बाद ईरानी सरकार की मुसीबतें बढ़ती हुई नजर आ रही हैं। अब ईरान को अपने ही लोगों से विरोध का सामना करना पड़ रहा है।

0
455

नई दिल्ली: ईरान में इन दिनों हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं। अमेरिकी हमले में सर्वोच्च कमांडर कासिम सुलेमानी के मारे जाने के बाद ईरान इंतकाम की आग में झुलस रहा है, लेकिन अमेरिका से बदला लेने के लिए ईरानी सरकार ने यूक्रेन विमान को ‘भूलवश’ मार गिराया। इसके बाद ईरानी सरकार की मुसीबतें बढ़ती हुई नजर आ रही हैं। अब ईरान को अपने ही लोगों से विरोध का सामना करना पड़ रहा है।

जानकारी के लिए बता दें कि 8 जनवरी को ईरान की राजधानी तेहरान में यूक्रेन का विमान बोइंग 737 क्रैश हो गया था, जिसमें 176 लोगों की मौत हो गई थी। ईरानी सरकार ने पहले तो कहा कि तकनीकी खराबी की वजह से विमान हादसा हुआ, लेकिन शनिवार को ईरानी सरकार ने माना कि उसकी भूलवश यूक्रेन का विमान मार गिराया गया।

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने ट्वीट कर विमान हादसे की जिम्मेदारी लेते हुए कहा, “इस विनाशकारी गलती के लिए ईरान को बहुत खेद है। पीड़ित परिवारों के प्रति मेरी संवेदना है। मैं तहे दिल से संवेदना व्यक्त करता हूं।” इसके बाद ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद जरीफ ने भी ट्वीट कर लिखा, “बहुत पछतावा है। सभी पीड़ित परिवारों और अन्य प्रभावित देशों के प्रति संवेदना और माफी।”

अब ईरान की जनता ने अपनी सरकार के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया है। विमान हादसे के कबूलनामे के बाद गुस्साए लोग विरोध प्रदर्शन करने के लिए सड़कों पर उतर आए हैं। लोगों को ‘तानाशाह को फांसी दो (डेथ टू डिक्टेटर)’ जैसे नारे लगाते हुए सुना जा रहा है। तेहरान स्थित आमिर कबीर विश्वविद्यालय के छात्र सड़क पर उतरकर ईरानी सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here