हिमाचल इनवेस्टर्स मीट में PM मोदी ने बताया, किन 4 व्हील्स पर चल रही है भारत में विकास की गाड़ी

पीएम मोदी ने कहा कि धर्मशाला में वैश्विक सम्मेलन कोई कल्पना नहीं, बल्कि सच्चाई है। यह अद्भुत है। हिमाचल प्रदेश की ओर से पूरे देश को, पूरी दुनिया को एक स्टेटमेंट है कि हम भी अब कमर कस चुके हैं।

0
128

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में आयोजित ‘राइजिंग हिमाचल: द ग्लोबल इनवेस्टर्स मीट 2019’ का उद्घाटन किया। इस कार्यक्रम का आयोजन 7 से 8 नवंबर तक चलेगा। बता दें कि हिमाचल के गठन के बाद देवभूमि पर निवेश को लेकर पहली बार इतना बड़ा सम्मेलन किया जा रहा है।

इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि धर्मशाला में वैश्विक सम्मेलन कोई कल्पना नहीं, बल्कि सच्चाई है। यह अद्भुत है। हिमाचल प्रदेश की ओर से पूरे देश को, पूरी दुनिया को एक स्टेटमेंट है कि हम भी अब कमर कस चुके हैं। मोदी ने कहा कि पहले इस तरह के वैश्विक सम्मेलन देश के कुछ ही राज्यों में हुआ करते थे, लेकिन अब परिस्थितियां बदल रही हैं और इसकी एक गवाह यहां हिमाचल में हो रही ये समिट भी है।

Prime Minister Narendra Modi at an exhibition organised at Himachal Pradesh Global Investors Meet, 2019 in Dharamshala. State Chief Minister Jai Ram Thakur and Governor Bandaru Dattatreya also present. pic.twitter.com/mX5JWDBdin

पीएम मोदी ने कहा कि इन दिनों सरकारें निवेश के लिए बेहतर इकोसिस्टम बनाने की स्पर्धा में आगे आ रही हैं। राज्यों के बीच एक अच्छी स्वस्थ स्पर्धा नजर आ रही है। मुझे खुशी है कि इसी सोच के साथ हिमाचल प्रदेश सरकार भी काम कर रही है। उन्होंने कहा कि निवेशक राज्यों को देखकर निवेश करते हैं कि किस राज्य में कितनी छूट मिल रही है। आज भारत में विकास की गाड़ी नई सोच, नई अप्रोच के साथ 4 व्हील्स पर चल रही है। एक व्हील सोसायटी का, जो एस्पायरिंग है। एक व्हील सरकार का, जो नए भारत के लिए एनकरेजिंग है। एक व्हील इंडस्ट्री का, जो डेयरिंग है और एक व्हील ज्ञान का, जो शेयरिंग है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि बेवजह के नियम कायदे, सरकार का बहुत ज्यादा दखल कहीं न कहीं उद्योगों के बढ़ने की रफ्तार को रोकता है। मुझे खुशी है कि इसी सोच के साथ हिमाचल प्रदेश सरकार भी काम कर रही है। अब राज्य सरकारें समझने लगी हैं कि रियायतों की स्पर्धा न राज्य का भला करती हैं और न ही उद्योगों को आकर्षित कर पाती हैं। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि केंद्रीय मंत्रिमंडल ने कल लगभग 4.50 लाख मध्यम वर्गीय परिवारों के घर बनाने के सपने को पूरा करने के लिए एक बड़ा फैसला लिया है। इस फैसले से लगभग 4.50 लाख घर खरीदारों को फायदा होगा।

गौरतलब है कि दो दिवसीय इस कार्यक्रम में विभिन्न देशों के राजदूतों के अलावा, नामी उद्योग घरानों के उद्योगपतियों सहित विदेशी निवेशक और 1,720 प्रतिनिधि भी शिरकत करेंगे। हालांकि हिमाचल इन्वेस्टर्स मीट से राज्य सरकार 85 हजार करोड़ रुपए के निवेश के समझौते की उम्मीद कर रही है।

बता दें कि इन्वेस्टर मीट के उद्घाटन सत्र में पीएम के अलावा उनके मंत्रिमंडल के पर्यटन राज्य मंत्री प्रह्लाद एस पटेल, वित्त राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर, सिक्किम के मुख्यमंत्री प्रेम सिंह थमांग, बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे, नीति आयोग के वाइस चेयरमैन राजीव कुमार और केंद्रीय मंत्रालय के अधिकारी भी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here