कोरोना वायरस: जानें कितना सेफ है आपका बस-मेट्रो में सफर करना

0
357
फाइल फोटो

दिल्ली। कोरोना वायरस से आज पूरी दुनिया परेशान हैं। भारत में कोरोना से लोगों के मन में दहशत का माहौल बना हुआ है। इतना ही नहीं लोग अपने घरों से नहीं निलकर रहे हैं। ऐसे में कोरोना वायरस से पीड़ित एक शख्स ने बाताय कि आपके लिए कितना सेफ है मेट्रो, बस में सफर करना। तो आइए जानते हैं कितना सेफ है आपके लिए सार्वजनिक स्थानों पर सफर करना।

Image result for बस और मेट्रो का सफर
जैसा कि आप जानते हैं कि तमाम शोधों से स्पष्ट है कि कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्ति के खांसने या छींकने से हवा में फैलता है या फिर किसी सतर पर गिरे संक्रमित व्यक्ति के थूक के छीटों के संपर्क में आने से फैल सकता है। ऐसे में सार्वजनिक यातायात साधनों से सफर करने के दौरान ये संभावनाएं ज्यादा बढ़ जाती हैं।

Image result for बस और मेट्रो का सफर
अक्सर संक्रमित व्यक्ति को खुद पता नहीं होता कि वो कोरोना वायरस के संपर्क में आ चुका है। इस दौरान वो अगर सार्वजनिक स्थानों पर सफर करता है जैसे ट्रेन का हैंडल, सीट, टैक्सी के दरवाजे, मेट्रो, बस आदि में उसका संक्रमण थूक के जरिए वहां से आगे प्रसारित होता है।

Image result for बस और मेट्रो का सफर
इस मामले में विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोना वयारस बुखार फैलाने वाले संक्रामक तत्वों की तरह हवा में नहीं ठहरते हैं। ऐसे में अगर आप किसी संक्रमित व्यक्ति के बहुत पास में हैं तो आप इस वायरस से संक्रमित हो सकते हैं। ऐसे में साफ है कि आपको बस मेट्रो या ट्रेन में सफर करने से वायरस की चपेट में आने का कितना खतरा है। ये इस बात पर भी निर्भर करता है कि आपकी बस या ट्रेन कितनी भरी हुई है। क्या उसमें संक्रमित व्यक्ति भी सफर कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here