राहुल गांधी ने यूट्यूब पर शेयर की शॉर्ट फिल्म, देश के साथ साझा किया प्रवासी मजदूरों का दर्द

0
115
Rahul Gandhi talking with Migrant Workers

लॉकडाउन के चलते प्रवासी मजदूरों की मुश्किलों को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी केंद्र सरकार पर लगातार हमलावर हैं. बीते दिनों से लॉकडाउन में फंसे मजदूर पैदल अपने राज्यों को लौट रहे है… राहुल गांधी ने 16 मई को दिल्ली के सुखदेव विहार फ्लाईओवर के पास इन मजदूरों से बातचीत की थी. राहुल ने आज सुबह अपने यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो साझा किया.

राहुल द्वारा साझा किए गए 17 मिनट के इस वीडियो की शुरुआत प्रवासी मजदूरों के पलायन के दर्द को दिखाने वाले दृश्यों से है. वीडियो में लोग अपना दर्द बता रहे हैं.

झांसी के रहने वाले महेश कुमार के अनुसार, 120 किलो मीटर चले हैं. रात में रुकते -रुकते आगे बढ़े. मजबूरी है कि हम लोगों को पैदल जाना है. वहीं एक अन्य महिला कहती हैं, बड़े आदमी को दिक्कत नहीं है. हम तीन दिन से भूखे मर रहे हैं. बच्चा भी है हमारा साथ में है, वो भी तीन दिन से भूखा-प्यासा है. एक अन्य महिला कहती हैं कि जो भी कमाया था बीते दो महीनों में खत्म हो गया है. इसलिए अब पैदल ही घर निकल पड़े हैं.

राहुल गांधी एक मजदूर से बात करते हुए पूछते हैं, वो कहां से आ रहे हैं और क्या करते थे. जवाब में शख्स बताता है कि वह हरियाणा से आ रहा है और कंस्ट्रक्शन साइट पर काम करता था. एक दिन पहले ही चलना शुरू किया है. उनके साथ उनका पूरा परिवार है. शख्स ने बताया कि उसे एकाएक ही लॉकडाउन की जानकारी मिली. जहां रहते थे वहां किराए के नाम पर 2500 रुपये देने पड़ते थे. इसलिए अब वो झांसी रवाना हो रहे हैं.

राहुल गांधी ने पूछा, पैसे हैं पास में, खाना खा रहे हो? इस सवाल के जवाब में परिवार ने बताया कि लोग रास्ते में उन्हें खाने के लिए दे देते हैं. कई बार खाना मिलता भी है कई बार नहीं मिलता, तो पैदल चलते हुए आगे बढ़ जाते हैं.

बता दें कि राहुल गांधी दिल्ली की सड़कों पर भटकते मजदूरों से मिलने सड़कों पर आए थे. फुटपाथ पर बैठे मजदूरों से राहुल ने बातचीत की थी. उनके दुख-दर्द को जाना था. देश के ऐसे तमाम मजदूरों के हौसले की कुछ कहानियां राहुल गांधी ने आज पूरे देश से साझा की.

इससे पहले राहुल गांधी ने वीडियो टीजर पेश किया था. कोरोना संकट में लॉकडाउन में फंसे मजदूरों की मुश्किलों और उनकी घर वापसी की मुश्किलों को पर राहुल गांधी लगातार आवाज उठा रहे हैं. सरकार को सुझाव भी दे रहे हैं. हालांकि, सरकार भी मजदूरों की परेशानियों को संजीदगी से ले रही है. लोगों को लॉकडाउन में बड़ी राहत दी है.

राहुल गांधी लोगों का ध्यान मजदूरों की बेबसी पर दिलाना चाहते हैं. उन्होंने पहले भी वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए अपनी पार्टी के लोगों, पत्रकारों, और जानी मानी हस्तियों से कोरोना संकट, लॉकडाउन और अर्थव्यवस्था पर बातचीत की हैं. अब मजदूरों के संकट को लेकर सरकार पर लगातार निशाना साध रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here