अयोध्या मामला: फैसले से पहले CJI गोगोई ने यूपी DGP और चीफ सेक्रेट्री को किया तलब

अयोध्या मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट का फैसला कभी भी आ सकता है। ऐसे में उत्तर प्रदेश प्रशासन ने राज्य में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम कर दिए हैं। इसी कड़ी में सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह और चीफ सेक्रेट्री राजेंद्र तिवारी को तलब किया है। आज गोगोई दोनों से मुलाकात करेंगे।

0
212

नई दिल्ली: अयोध्या मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट का फैसला कभी भी आ सकता है। ऐसे में उत्तर प्रदेश प्रशासन ने राज्य में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम कर दिए हैं। इसी कड़ी में सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह और चीफ सेक्रेट्री राजेंद्र तिवारी को तलब किया है। आज गोगोई दोनों से मुलाकात करेंगे।

सूत्रों के मुताबिक केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से अयोध्या मामले के संभावित फैसले को देखते हुए सभी राज्यों को एडवाइजरी जारी की गई है। सभी राज्यों को अलर्ट रहने के निर्देश दिए गए हैं। सुरक्षा को देखते हुए गृह मंत्रालय ने अतिरिक्त सुरक्षाबलों की 40 कंपनियों को यूपी में तैनात किया है।

ये भी पढ़ें- सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले अलर्ट, अयोध्या स्थानीय प्रशासन ने पीस कमेटियों का किया गठन

अयोध्या मामले के बाद उत्तर प्रदेश में कोई बवाल न हो, इसके लिए सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को सभी जिले के जिलाधिकारियों और पुलिस अधीक्षकों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की और सुरक्षा व्यवस्था के बारे में जानकारी ली।

6 हजार लोगों को रेड कार्ड जारी

अयोध्या मामले के फैसले को लेकर यूपी सरकार सुरक्षा के मद्देनजर काफी सख्ती बरत रही है। इसलिए फैसले से पहले यूपी पुलिस ने बरेली जोन में कुल 6000 लोगों को रेड कार्ड जारी किया है। दरअसल, पुलिस ने ये कार्ड उन लोगों को जारी किया है, जो फैसले के बाद उपद्रव कर सकते हैं। इसके साथ ही 90 संवेदनशील स्थानों को चिन्हित किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here