87वें इंडियन एयरफोर्स डे: आसमान में दिखी वायुसेना की ताकत, दुनिया हैरान

वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने अपने संबोधन में कहा कि बालाकोट अटैक आतंकी हमलों से निपटने की सरकार की रणनीति में अहम बदलाव है।

0
168
वायुसेना के जांबाज जवानों ने आसमान में हैरतंगेज करतब दिखाए।

नई दिल्ली। भारतीय वायुसेना ने आज अपना 87वां स्थापना दिवस मनाया। इंडियन एयरफोर्स डे के इस मौकें पर वायुसेना ने दिल्ली से सटे गाजियाबाद स्थित हिंडन एयरफोर्स स्टेशन पर 87वें एयर शो कार्यक्रम का आयोजन किया। तकरीबन एक घंटे तक चले एयर शो में वायुसेना ने पहली बार सबसे खतरनाक लड़ाकू युद्धक हेलिकॉप्टर अपाचे, तेजस और हैवी लिफ्ट हेलीकॉप्टर चिनूक से अपनी ताकत दिखाई।

वहीं बालाकोट में एयरस्ट्राक को अंजाम देने वाले मिराज 2000 ने भी अपने जलवे दिखाये। इसके आलावा इस एअर-शो मिग-21 बाइसन भी शामिल हुआ जिसे खुद विंग कमाण्डर अभिनंदन वर्धमान ने उड़ाया। आपकों बता दें कि अभिनंदन बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद पाकिस्तान के एफ-16 लड़ाकू विमान का पीछा करते हुए अपने मिग-21 बाइसन के साथ पाकिस्तान में घुसकर उस विमान को मार गिराया था। एयरशो में अभिनंदन की एंट्री होते ही पूरा एयरबेस तालियों से गूंज उठा।

ये भी पढ़े: बेटी को टॉयलेट में कराया था ब्रेस्टफीड, इस बालीवुड अभिनेत्री ने इंटरव्यू में किया जिक्र

87वें इंडियन एयरफोर्स डे के मौकें पर आयोजित इस कार्यक्रम में मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंडुलकर भी पहुंचे। जिन्हें 83वें एयरफोर्स डे मौके पर ग्रुप कैप्टन बनाया गया था। इसके एलावा आर्मी चीफ बिपिन रावत, नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह और वायु सेना के कई वरिष्ठ अधिकारियों के साथ-साथ अन्य देशों के सैन्य अधिकारी भी इस कार्यक्रम का हिस्सा बने।

कार्यक्रम के दौरान वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने अपने संबोधन में कहा कि बालाकोट अटैक आतंकी हमलों से निपटने की सरकार की रणनीति में अहम बदलाव है। पड़ोसी देश के हालात हमारे लिए चिंता का विषय है। पुलवामा हमला बताता है कि हमारे रक्षा प्रतिष्ठानों पर खतरा है। वायुसेना प्रमुख ने आगे कहा कि बालाकोट में एयर स्ट्राइक करने वाले जवानों पर गर्व है। मैं सभी वायुसेना के जवानों को बधाई देता हूं। जिन्होनें आपातकाल में भी देश और विदेश में सफलतापूर्वक काम किया है।

ये भी पढ़े: कांग्रेस ने किया यूपी में प्रदेश अध्यक्ष का ऐलान,इन्हें दी गई जिम्मेदारी

कार्यक्रम के दौरान अभिनंदन वर्धमान की 51वीं स्क्वॉड्रन और मिराज 2000 की 9 स्क्वॉड्रन, फ्लाइट कंट्रोलर मिंटी अग्रवाल की 601 सिग्नल यूनिट को वायुसेना प्रमुख द्वारा प्रशस्ति पत्र दिया गया। तीनों यूनिट को यह सम्मान 26 फरवरी को बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकानों पर एयर स्ट्राइक करने और 27 फरवरी को पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों के हमले को नाकाम करने के लिए दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here