दिल्ली में देसी ठर्रे के बढ़े दाम, सरकारी ठेगे होंगे बंद…जानिए क्या होंगे नए रेट

शराब पीने वालों के लिए बुरी खबर है। जो लोग दिल्ली में रहते है उन लोगों के लिए मश्किल बढ़ सकती है।

0
231
Delhi Liquor Shop
शराब पीने वालों के लिए बुरी खबर है। जो लोग दिल्ली में रहते है उन लोगों के लिए मश्किल बढ़ सकती है।

शराब पीने वालों के लिए बुरी खबर है। जो लोग दिल्ली में रहते है उन लोगों के लिए मश्किल बढ़ सकती है। दिल्ली में मंगलवार की रात से शराब 400 शराब के ठेकों (Delhi Liquor Shop) पर ताला लग जाएगा और अब निजी शराब बिक्रेता ही शराब की दुकानों में शराब की बिक्री करेंगे। इसकी सबसे बड़ी वजह ये है कि दिल्ली सरकार की नई आबकारी नीति लागू होने वाली है। हालांकि कोरोना के वक्त अचानक से बड़ी संख्या में सरकारी ठेके की दुकान बंद होने से शराब की किल्लत भी होगी और निजी दुकानों पर अचानक भीड़ बढ़ जाएगी

निजी दुकानों पर होगा शराब का संचालन

आबकारी नीति के तहत बुधवार सुबह से शहर में शराब (Delhi Liquor Shop) की खुदरा दुकानों का संचालन निजी हाथों में होगा। सरकारी खुदरा दुकानें बंद होने के कारण दिल्ली में शराब की कमी हो सकती है क्योंकि 850 निजी दुकानें बुधवार से काम करना शुरू कर देंगी, इस बात की गांरटी कौन लेगा?

नए लाइसेंस धारक की खुदरा बिक्री होगी

बता दें आबकारी नीति के तहत निजी तौर पर चलने वालीं 260 दुकानों समेत सभी 850 शराब की दुकानें खुलने जा रही है। निजी शराब की दुकानों ने पहले ही 30 सितंबर को अपना संचालन बंद कर दिया था। सरकारी ठेके भी मंगलवार की रात को अपना कारोबार खत्म कर लेंगे और नए लाइसेंस धारक बुधवार से शराब की खुदरा बिक्री शुरू कर देंगे।

सुपर प्रीमियम होंगी शराब की दुकानें

नई नीति के मुताबिक शराब की दुकानें 500 वर्ग फुट क्षेत्र में खोली जाएंगी। एसी और सीसीटीवी लगाया जाएगा। शराब के लिए अब सड़क पर भीड़ नहीं लगेगी, क्योंकि शराब की बिक्री दुकानों के अंदर ही की जाएगी। नई आबकारी नीति के तहत 2,500 वर्ग फुट के क्षेत्रफल वाले पांच सुपर-प्रीमियम खुदरा विक्रेता भी दुकान खोलेंगे। 

100 ठेकों पर स्टॉक पहले ही खत्म हो गया है 

आपको बता दें दुकानदारों का कहना है कि दिल्ली में शराब और बीयर की कमी होना तो शुरू हो गया है। करीब 100 ठेकों पर स्टॉक लगभग खत्म हो गया है। इसकी वजह बैकअप प्लैन तैयार नहीं करना बताया जा रहा है। यानी नया माल आया ही नहीं है, इससे पहले पुराना खत्म हो रहा है। अगर इसका समाधान नहीं निकाला गया तो 12 नवंबर के बाद दिल्ली में लोगों को शराब और बीयर खरीदने में दिक्कत होगी। हालांकि शराब पीने वालों के पास नोएडा का ऑप्शन हैं।

दरअसल, इस स्टॉक के खत्म होने की वजह से लोग एनसीआर की लिकर शॉप पर जाने लगे है। कुछ लोग दिल्ली में फैले अवैध ठेकों से शराब खरीद रहे है। शादी-पार्टियों के लिए भी शराब नहीं मिलेगी। जब ठेकों पर शराब और बीयर ही नहीं होगी तो लोग लाइसेंस कैसे जारी कर पाएंगे। नई आबकारी नीति के तहत 17 नवंबर नई दुकानें खोली जा सकती है। लेकिन तब तक दिल्ली में शराब मिलने की परेशानी बनी रहेगी।

Also Read: दिल्ली के ठेकों में शराब का स्टॉक खत्म होने वाला है, जनता NCR की तरफ कर रही रुख

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here