सावन के अंतिम सोमवार के दिन मनाया जाएगा रक्षाबंधन

3 अगस्त को श्रावण मास का अंतिम सोमवार भी है। साथ ही इस साल भाई-बहन का पवित्र त्योहार भी इसी दिन मनाया जाएगा।

0
340
Rakshabandhan 2020
Rakshabandhan 2020: सावन के अंतिम सोमवार के दिन मनाया जाएगा रक्षाबंधन

New Delhi: भाई-बहन का पवित्र त्योहार (Rakshabandhan 2020) इस साल 3 अगस्त को मनाया जाएगा। ज्योतिषों के अनुसार इस साल भाई-बहन का पवित्र त्योहार रक्षाबंधन बेहद खास होगा क्योंकि इस साल रक्षाबंधन (Rakshabandhan 2020) पर सर्वार्थ सिद्धि और दीर्घायु आयुष्मान का शुभ संयोग बन रहा है। रक्षाबंधन पर ऐसा शुभ संयोग 29 साल बाद आया है। साथ ही इस साल भद्रा और ग्रहण का साया भी रक्षाबंधन पर नहीं पड़ रहा है।

कोरोना महामारी के चलते इस बार (Rakshabandhan 2020) कई भाई -बहन साथ नहीं है। और शायद भाई-बहन को राखी का त्योहार सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) के नियमों का पालन करते हुए मनाना होगा। ऐसे में आप बाहर घूम-फिर नहीं सकते हैं। वहीं इस बार एक खुशबरी ये है कि 3 अगस्त को श्रावण मास का अंतिम सोमवार भी है।

Sawan 2020: आज है सावन का चौथा सोमवार, इस समय करें पूजा

श्रावण मास के अंतिम सोमवार में भगवान शिव की विशेष पूजा की जाएगी। इस दिन पूर्णिमा की तिथि है जो रात 9 बजकर 28 मिनट तक रहेगी। रक्षाबंधन के दिन सुबह 7 बजकर 19 मिनट तक नक्षत्र रहेगा। इसके बाद श्रवण नक्षत्र आरंभ होगा जो 4 अगस्त रात 8 बजकर 11 मिनट तक रहेगा।

लेकिन क्या आप जानते है कि रक्षाबंधन का पावन पर्व मनाने की शुरुआत कैसे हुई। आइए जानते हैं रक्षाबंधन से जुड़ी पौराणिक कथा-

तो एक बार भगवान विष्णु असुरों के राजा बलि के दान धर्म से बहुत प्रसन्न हुए और उन्होंने बलि से वरदान मांगने के लिए कहा। तब बलि ने उनसे पाताल लोक में बसने का वरदान मांगा। भगवान विष्णु के पाताल लोक चले जाने से माता लक्ष्मी और सभी देवता बहुत चिंतित हुए। तब मां ने लक्ष्मी गरीब स्त्री के वेश में पाताल लोक जाकर बलि को राखी बांधा और भगवान विष्णु को वहां से वापस ले जाने का वचन मांगा। उस दिन श्रावण मास की पूर्णिमा थी। तभी से रक्षाबंधन मनया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here