World Water Day 2021: कैसे हुई जल दिवस की शुरुआत ?

देशभर के लोगों को जल का महत्व और स्वच्छ जल उपलब्ध कराने के लिए हर साल 22 मार्च को विश्व जल दिवस मनाया जाता है।

0
241
World Water Day 2021
देशभर के लोगों को जल का महत्व और स्वच्छ जल उपलब्ध कराने के लिए हर साल 22 मार्च को विश्व जल दिवस मनाया जाता है।

New Delhi: कुछ वक्त पहले हर जगह आप नदियां, तालाब, नहर और कुएं देखा करते थे, लेकिन औद्योगीकरण की वजह से ये दुनिया पूरी तरह से बदल गई और इसका असर पानी (World Water Day 2021) में देखने को मिला। आज के समय में नदियों का पानी गंदा होता जा रहा है, साथ ही कम होता जा रहा है। लोगों के बीच जल संकट गहराता जा रहा है। देशभर के लोगों को जल का महत्व और स्वच्छ जल उपलब्ध कराने के लिए हर साल 22 मार्च को विश्व जल दिवस (World Water Day 2021) मनाया जाता है।

कब हुई थी शुरुआत

दुनिया को पानी (World Water Day 2021) की जरुरत बताने के लिए राष्ट्र ने विश्व जल दिवस मनाने की शुरुआत की थी। 1992 में रियो डि जेनेरियो में आयोजित पर्यावरण और विकास सम्मेलन किया गया था, जिसका आयोजन पहली बार साल 22 मार्च, 1993 में हुआ था।

क्यों है पानी का संकट

पर्यावरण विशेषज्ञों की माने तो विकास के नाम पर निर्माण इमारतें सबसे बड़ी वजह है। पेड़ लगातार काटे जा रहे हैं, उनकी तुलना में नए पौधे नहीं लगाए जाते। सड़क पर दौड़ती गाड़ियों और कारखानों से निकलने वाले धुएं से प्रदूषण लगातार बढ रहा है। इन कारखानों से निकलने वाला कचरा नदियों में जाता है, जिससे बचा पानी भी दूषित हो रहा है। पेड़ पौधों की कमी से ऑक्सीजन की कमी हो रही है। लोग पानी के संरक्षण और सुरक्षा के प्रति जागरुक नहीं हुए तो आने वाले दिनों में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।

जल दिवस 2021 की थीम

विश्व जल दिवस (World Water Day 2021) हर साल एक थीम के साथ मनाया जाता है। इस साल की थीम वेल्यूइंग वॉटर है, जिसका उद्देश्य लोगों को पानी का महत्व समझाना है। दुनिया में कई देश ऐसे हैं जहां लोगों को पीने तक का पानी नहीं मिल पाता और फिर लोग गंदा पानी पीकर कई सारी स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here