World Theatre Day 2021 का आगाज, जानें कहां से हुई शुरुआत

आज का दिन सिनेमा के लिए बेहद खास है। जब सिनेमा नहीं हुआ करता था, तब लोगों के मनोरंजन का साधन रंगमंच हुआ करता था।

0
305
World Theatre Day 2021
आज का दिन सिनेमा के लिए बेहद खास है। जब सिनेमा नहीं हुआ करता था, तब लोगों के मनोरंजन का साधन रंगमंच हुआ करता था।

World Theatre Day: आज का दिन सिनेमा (World Theatre Day 2021) के लिए बेहद खास है। जब सिनेमा नहीं हुआ करता था, तब लोगों के मनोरंजन का साधन रंगमंच हुआ करता था। आज सिनेमा पूरी तरह बदल गया है। रंगमंच न सिर्फ मनोरंजन का साधन है बल्कि ये लोगों को सामाजिक और भावात्मक रूप से जगाने का भी (World Theatre Day 2021) साधन है। 

होली पर अपने फोन को कैसे बचाएं, पढ़े ये सिंपल टिप्स

जागरुकता का आयोजन

बता दें सिनेमा (World Theatre Day 2021) जगत में पहले रंगमंच या थियेटर हुआ करता था। वहीं सिनेमा के साथ ही थियेटर के प्रति लोगों में जागरुकता और रूची पैदा करने के लिए हर साल विश्व रंगमंच दिवस का आयोजन किया जाता है।

क्या है इतिहास

इंटरनेशनल थियेटर इंस्टीट्यूट (International Theater Institute) ने साल 1961 में विश्व रंगमंच दिवस को मनाए जाने की शुरुआत की थी। हर साल इंटरनेशनल थिएटर इंस्टिट्यूट की ओर से एक कांफ्रेंस का आयोजन किया जाता है। जिसमें दुनियाभर से एक रंगमंच के कलाकार का चयन किया जाता है, जो विश्व रंगमंच दिवस के दिन एक खास संदेश को सामने रखते है। 

वाझे की कार में क्या कर रहा था मनसुख, जांच में हुआ खुलासा

भारत में रंगमंच 

भारत की बात की जाए तो रंगमंच का इतिहास (World Theatre Day 2021) बहुत पुराना है क्योंकि कहा जाता है कि नाट्यकला का विकास सबसे पहले भारत में हुआ था। बता दें यम और यमी, पुरुरवा और उर्वशी आदि के कुछ संवाद हैं। इन संवादों को पढ़कर कई विद्वानों का कहना है कि नाटक की शुरुआत यहीं से हुई है।  

देश से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें National News in Hindi 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here