New Delhi: आज विश्व गौरैया दिवस (World Sparrow Day 2021) है। हर साल यह 20 मार्च को मनाया जाता है। विश्वभर में पिछले 11 सालों से गौरैया दिवस मनाया जा रहा है। लेकिन सवाल ये उठता है कि इस दिन को क्यों मनाया जाता है? आज के समय में बढ़ते ध्वनि प्रदूषण के कारण गौरैया को देखा नहीं जा रहा है। जिसके चलते लोगों के बीच जागरूकता बढ़ाने और आम घर गौरैया की रक्षा करने के लिए इस दिन को मनाया जाता है।

पीरियड्स के दर्द से पाना है छुटकारा, तो अपनाएं ये घरेलू तरीके

विश्व गौरैया दिवस 2021 की थीम (World Sparrow Day 2021 Theme)

इस साल विश्व गौरैया दिवस 2021 की थीम ‘आई लव स्पैरो’ (I Love Sparrow) रखी गई है। बता दें कि पिछले कई सालों से इस एक ही थीम पर विश्व गौरैया दिवस मनाया जा रहा है।

जानें कुछ रोचक तथ्य

सामान्य नाम: हाउस स्पैरो
वैज्ञानिक नाम: पासेर घरेलू
ऊँचाई: 16 सेंटीमीटर
विंगस्पैन: 21 सेंटीमीटर
वजन: 25-40 ग्राम

गर्मी से हैं बेहाल! तो रखें इन बातों का ख्याल..

Wwfindia.org के अनुसार गौरैया शहरी क्षेत्रों में रहने वाले हरे भरे इलाकों में रहती हैं, लेकिन “पिछले दो दशकों में उनकी आबादी लगभग हर शहर में घट रही है।” इस विश्व गौरैया दिवस पर आइए हमारे आसपास के बच्चों और अन्य लोगों को गौरैया के लिए स्थानों का सम्मान करने के लिए प्रोत्साहित करें।

गौरैया के मुताबिक आदतें विकसित करना- गौरैया को खिलाने के लिए बालकनी में पानी और अनाज का एक कटोरा रखने के लिए बच्चों को प्ररित करना चाहिए। हमे और अधिक हरियाली करनी चाहिए जिससे गौरैया अक्सर बालकनी में आएं।

बच्चों के साथ गौरैया की सैर के लिए जाएं- सुबह-सुबह स्थानीय गौरैया टहलने जाएं। दूरबीन और कैमरा लेना न भूलें।

गौरैया के पोस्टर बनाएं- गौरैया और अन्य पक्षियों पर पोस्टर और चित्र बनाएं जो आपकी बालकनी में अक्सर आते हैं। यह पक्षियों पर जागरूकता विकसित करने में मदद करता है।

लाइफस्टाइल से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें Lifestyle News in Hindi 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here