यूपी ने की दिल्ली बार्डर पर प्रतिबंध जारी रखने की अपील

दिल्ली में COVID-19 मामले, गौतम बुद्ध नगर और गाजियाबाद से 40 गुना तक अधिक हैं। इसलिए उसे दिल्ली से गौतम बुद्ध नगर और गाजियाबाद के बीच आवश्यक सेवाओं को छोड़कर यात्रा प्रतिबंध जारी रखना होगा।

0
457
Supreme Court
Supreme Court

Supreme Court: आज सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने दिल्ली (Delhi), उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) और हरियाणा (Haryana) में सीमा खोलने के मामले में सुनवाई की। सुनवाई में उत्तर प्रदेश सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया है कि दिल्ली में COVID-19 मामले, गौतम बुद्ध नगर और गाजियाबाद से 40 गुना तक अधिक हैं। इसलिए उसे दिल्ली से गौतम बुद्ध नगर और गाजियाबाद के बीच आवश्यक सेवाओं को छोड़कर यात्रा प्रतिबंध जारी रखना होगा।

चीन में फिर सामने आये कोरोना वायरस के मामले

सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि गृह सचिव ने तीनों राज्यों की मीटिंग बुलाई थी। हरियाणा (Haryana) और दिल्ली (Delhi) ने कहा कि दो राज्यों के बीच आवागमन में अब कोई रुकावट नहीं है। बॉर्डर खोल दिए गए हैं, लेकिन उत्तर प्रदेश ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में कहा कि दिल्ली में कोरोनावायरस (Coronavirus) के बढ़ते मामलों को देखते हुए बॉर्डर पूरी तरह से नहीं खोले जा सकते।

कोरोना काल में बचत कर ऐसे बने लखपति!

उत्तर प्रदेश सरकार के वकील ने कहा की दिल्ली में कोरोना के मामले 32 हजार को पार कर गए हैं और मरने वालों की संख्या 1000 से ऊपर है, जबकि नोएडा और गाजियाबाद में मरने वालों की संख्या 40 है। इस तरह तुलना करके देखें तो दिल्ली में कोरोना वायरस के मरने वालों की संख्या नोएडा और गाजियाबाद से 25 गुना अधिक है। इस लिए यूपी और दिल्ली के बीच सिर्फ अवश्यक सेवा के लिए सीमा खोलनी होगी।

समान नीति तैयार करे राज्य

इससे पहले की सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि दिल्ली, हरियाणा और यूपी के एनसीआर इलाके में आवाजाही पर एक सुसंगत नीति होनी चाहिए। कोर्ट ने कहा था कि वर्तमान हालात में एक नीति, एक रास्ता और एक पोर्टल बनाया जाए। कोर्ट ने कहा था कि सभी राज्य इसके लिए एक समान नीति तैयार करें। कोर्ट ने कहा कि एक हफ्ते के भीतर एक नीति तैयार हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here