Tulsi Vivah 2022: तुलसी विवाह पर तुलसी पूजा करने से प्रसन्न होंगी मां लक्ष्मी, जानें शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

0
89

Tulsi Vivah 2022: प्रत्येक वर्ष कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को तुलसी विवाह का पर्व मनाया जाता है। वहीं इस साल तुलसी विवाह 05 नवंबर 2022 को है। बता दें कि तुलसी विवाह के दिन से ही शादियों के लिए शुभ मुहूर्त शुरू हो जाता हैं। धार्मिक शास्त्रों के अनुसार, तुलसी विवाह विष्णु देव और लक्ष्मी माता की कृपा पाने के लिए होता है।

माना जाता है कि तुलसी विवाह संपन्न करवाने से कन्यादान के फल की प्राप्ति होती है। साथ ही आपको बता दें कि शालिग्राम जी और तुलसी जी की कृपा से विवाह में आने वाली सभी बाधाओं का अंत हो जाता है। साथ ही शादी शुदा लोगों के जीवन में भी खुशियां आती हैं। आइए आपको बताते है तुलसी विवाह के महत्व और इस दिन रखे जाने व्रत के बारे में-

तुलसी विवाह का महत्व

हिंदू शास्त्रों के अनुसार तुलसी जी लक्ष्मी माता का अवतार मानी जाती हैं। वहीं शालिग्राम को भगवान विष्णु का स्वरूप माना जाता है। पौराणिक कथाओं के अनुसार तुलसी के पौधे का विवाह कराने की परंपरा होती है। कहा जाता है कि इस दिन पूरे विधि विधान से तुलसी विवाह करने पर शादीशुदा की जिंदगी में खुशहाली बनी रहती है। साथ ही इस दिन कुछ ऐसे खास उपाय होते है जिसको करने से शादीशुदा की जिंदगी की सारी बाधाएं दूर हो जाती है। वैवाहिक जीवन से जुड़ी दिक्कतों का नाश करने के लिए तुलसी विवाह किया जाता है।

इस दिन व्रत रखने का महत्व

कार्तिक मास के महीने में अगर आप पूरे महीने कार्तिक स्नान करते हैं, तो आपको तुलसी जी की पूजा करनी चाहिए। कहते है कि तुलसी विवाह के दिन व्रत करने से जिंदगी के सारे पापों से मुक्ति मिल जाती है। कार्तिक मास की एकादशी को तुलसी विवाह करना बहुत ही शुभ माना जाता है। साथ ही आपको बता दें कि तुलसी जी को विष्णुप्रिया के नाम से भी जाना जाता है।

इस मुहूर्त में करें पूजा

हर साल कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को तुलसी विवाह का पर्व मनाया जाता है। वहीं इस साल तुलसी विवाह 05 नवंबर 2022 को मनाया जाएगा। बता दें कि 5 नवंबर 2022 के दिन शाम 06:08 बजे से शुरू होकर 26 नवंबर 2022 को शाम 05:06 बजे तक समाप्त होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here