ये कौन सी बीमारी! पांच महीने की बच्ची को लगेगा 16 करोड़ का इंजेक्शन…

5 माह की बच्ची तीरा को लगने वाला Zolgensma इंजेक्शन इतना महंगा है कि आम आदमी के लिए इसे खरीदना नामुमकिन है। तीरा के परिवार वालों के लिए इस मुश्किल घड़ी में पीएम ने की मदद।

0
497
Teera Kamat News
ये कौन सी बीमारी! पांच महीने की बच्ची को लगेगा 16 करोड़ का इंजेक्शन...

Maharashtra: मुंबई के अस्पताल में एक मासूम बच्ची जिंदगी और मौत के बीच की जंग लड़ रही है। पांच महीने की मासूम बच्ची ‘तीरा कामत’ के इलाज के लिए 22 करोड़ रुपये (Teera Kamat News) की जरूरत है, लेकिन बच्ची के परिवार वालों के पास इतना पैसा नहीं है। जिसे देखते हुए महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने टैक्स छूट के लिए प्रधानमंत्री मोदी को चिट्ठी लिखी थी।

जानें HIV AIDS के लक्षण, कारण और इलाज का सही तरीका

दरअसल तीरा को एसएमए टाइप 1 (SMA Type 1) यानी स्पाइनल अस्ट्रोफी (Spinal Atrophy) नामक एक दुर्लभ बीमारी है। जिससे ठीक होने के लिए तीरा को एक ऐसे इंजेक्शन की जरूरत है, जिसकी कीमत 16 करोड़ है, लेकिन यह Zolgensma नामक इंजेक्शन अमेरिका से आएगा जिसपर 6 करोड़ का टैक्स भी लगाया जाता है। वहीं पीएम ने इंजेक्शन पर टैक्स माफ कर दिया है और अब तीरा को 16 करोड़ का इंजेक्शन लग सकेगा।

बता दें कि 13 जनवरी को तीरा कामत को मुंबई के SRCC चिल्ड्रन अस्पताल में भर्ती कराया गया था। मासूम बच्ची ने अचानक अपनी मां का दूध पीना बंद (Teera Kamat News) कर दिया था। अस्पताल में जांच के दौरान ये सामने आया है कि बच्ची को एसएमए- टाइप1 बीमारी है, जिससे लड़ने के लिए डॉक्टरों ने जो इंजेक्शन लिखा उसकी कीमत जानकर तीरा के परिवार वालों के पैरों के नीचे से जमीन खिसक गई।

माता-पिता ने कैसे जुटाई रकम?

इंजेक्शन की कीमत जानने के बाद तीरा के माता-पिता ने सोशल मीडिया पर एक पेज बनाया था और इस पर क्राउड फंडिंग शुरू कर दी। इस पेज को काफी अच्छा रिस्पॉन्स मिला। अब तीरा के माता-पिता ने 16 करोड़ रुपये जुटा लिए है।

पुरुषों में होता है इन 4 कैंसर का सबसे ज्यादा खतरा, जानें लक्षण

Zolgensma इंजेक्शन क्यों हैं इतना महंगा?

इस इंजेक्शन को एक स्विटजकलैंड की कंपनी नोवार्टिस बनाती है। यह इंजेक्शन एक तरह का (Zolgensma Injection Price) जीन थैरेपी ट्रीटमेंट है, जिसे एक बार लगाया जाता है। इसे स्पाइनल अस्ट्रोफी नामत बिमारी (Teera Kamat News)  से जुझ रहे 2 साल से कम उम्र के बच्चों को लगाया जाता है। मिली जानकारी के मुताबिक ये इंजेक्शन इतना जीन थैरेपी मेडिकल जगत में एक बड़ी खोज है, इसके एक डोज से पीढ़ियों टक पहुंचने वाली जानलेवा बीमारी दूर हो जाती है।

लाइफस्टाइल से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें Lifestyle News in Hindi 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here