SC का बड़ा फैसला, अब बेटियों का पैतृक संपत्ति पर बेटों के बराबर अधिकार होगा

सुप्रीम कोर्ट ने महिलाओं के हक में एक बड़ा फैसला दिया है। कोर्ट ने कहा है कि पिता के पैतृक की संपत्ति में बेटी का बेटे के बराबर हक होगा।

0
354
Daughter right on father property
SC का बड़ा फैसला, अब बेटियों का पैतृक संपत्ति पर बेटों के बराबर अधिकार होगा

New Delhi: सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने बड़ा फैसला सुनाते हुए कहा है कि बेटियों का पैतृक संपत्ति पर  (Daughter right on father property) अधिकार होगा। साल 2005 में 5 सितंबर को संसद ने अविभाजित हिंदू परिवार के उत्तराधिकार अधिनियम में संशोधन किया था। इसके ज़रिए बेटियों को पैतृक संपत्ति में बराबर  का हिस्सेदार माना था।

ऐसे में नौ सितंबर 2005 को ये संशोधन लागू होने से पहले भी अगर किसी व्यक्ति की मृत्यु हो गई हो और संपत्ति का बंटवारा बाद में हो रहा हो तब भी हिस्सेदारी बेटियों को देनी (Daughter right on father property) होगी। दरअसल साल 2005 में ये कानून बन गया था लेकिन ये साफ नहीं था कि अगर पिता का देहांत 2005 से पहले हुआ तो क्या ये कानून ऐसी फैमिली पर लागू होगा या नहीं।

J-K 4G internet: इस दिन से शुरू होगा जम्मू कश्मीर में 4G इंटरनेट का ट्रायल

जिसपर आज जस्टिस अरुण मिश्रा की अगुआई वाली बेंच ने ये फैसला दिया कि ये कानून हर परस्थिति में लागू किया जाएगा। अगर पिता का देहांत कानून बनने से पहले यानी 2005 से पहले हो गया है तो भी बेटी को बेटे के बराबर अधिकार मिलेगा।

बता दें कि जस्टिस अरुण मिश्रा की अध्यक्षता वाली सुप्रीम कोर्ट की 3-जजों की बेंच ने ये कानून तय किया। दिल्ली हाईकोर्ट ने हिंदू उत्तराधिकार अधिनियम, 1956 की धारा 6 की व्याख्या के संबंध में विचार-विमर्श किया था और 2005 के हिंदू उत्तराधिकार (संशोधन) अधिनियम द्वारा संशोधन मामले में सुप्रीम कोर्ट के दो विपरीत फैसलों का मुद्दा उठाया था। इसके बाद मामले को सुप्रीम कोर्ट के तीन जजों के पास भेजा गया।

बुलंदशहर में दर्दनाक हादसा, छेड़खानी के दौरान अमेरिका में पढ़ने वाली छात्रा की मौत

इस मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला अहम है कि जब पूरी दुनिया में लड़कियां लड़कों के बराबर अपनी हिस्सेदारी साबित कर रही हैं, ऐसे में सिर्फ संपत्ति के मामले में उनके साथ यह मनमानी और अन्याय नहीं होना चाहिए। जस्टिस अरुण मिश्रा की बेंच ने यह फैसला देते हुए यह साफ कर दिया है बेटियों को अब से बेटों के बराबर ही संपत्ति में हिस्सेदारी मिलेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here