Loan Moratorium पर आज होगा फैसला, EMI पर पड़ेगा ये असर

याचिकाकर्ता ने कोर्ट में दलील दी है कि कोरोना संकट में जिन कठिन आर्थिक हालातों को देखते हुए मोरेटोरियम सुविधा दी गई थी वह अभी समाप्त नहीं हुई है.

0
294
Loan Moratorium
EMI Moratorium Extended पर आज होगा फैसला

Delhi: मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने रिजर्व बैंक (RBI) की मोरेटोरियम योजना (Loan EMI Moratorium Extended) की याचिका पर सुनवाई की. आपको बता दें कि, लॉकडाउन के बाद RBI ने तीन महीने के लिए लोन मोरेटोरियम का ऐलान किया था. जिसके बाद इस अवधि को 3 महीने के लिए और बढ़ा दिया गया था. याचिकाकर्ता ने कोर्ट में दलील दी है कि कोरोना संकट में जिन कठिन आर्थिक हालातों को देखते हुए मोरेटोरियम सुविधा दी गई थी वह अभी समाप्त नहीं हुई है, ऐसे में मोरोटोरियम की सुविधा को इस साल दिसंबर तक बढ़ाया जाना चाहिए. गौरतलब है कि भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) द्वारा बढ़ाई गई 6 महीने के लिए लोन मोरेटोरियम (Loan Moratorium) की अवधि आज समाप्त हो गई है.

यूपी में 2 लाख के पार कोरोना केस, देश में कुल आंकड़ा 36,91,166 पहुंचा

आपको बता दें कि लोन मोरेटोरियम (Loan Moratorium) एक ऐसी व्यवस्था है, जिसके तहत आम आदमी को अपने लोन की किस्त को टालने का विकल्प मिल रहा था. हालांकि यह सिर्फ किस्त टालने का विकल्प था, ना कि EMI माफ करने का. आरबीआई ने कोरोना महामारी के कारण मार्च से मई 2020 के लिए लोन मोरेटोरियम की व्यवस्था लागू की थी. और जब लॉकडाउन अवधि बढ़ाई गई तो लोन मोरेटोरियम को भी जून से अगस्त 2020 तक बढ़ाया गया.

सुशांत केस में लगातार जांच जारी, रिया से अब तक 35 घंटे की पूछताछ

भारतीय रिज़र्व बैंक ने अगस्त में कहा था कि वो लेंडर्स को लोन रिस्ट्रक्चरिंग (Loan Restructuring Scheme) की सुविधा देगा. इससे उन लोगों को राहत मिल सकेगी, जिन्होंने लोन लिया है लेकिन मौजूदा संकट में रिपेमेंट नहीं कर पा रहे हैं. रिस्ट्रक्चरिंग की सुविधा के तहत बॉरोवर्स लोन पेमेंट को नये तरीके से ​शेड्यूल कर सकेंगे.

इन गाइडलाइंस के साथ यूपी में Unlock-4 की तैयारी शुरू

जस्टिस अशोक भूषण की अध्‍यक्षता वाली बेंच ने एडवोकेट विशाल तिवारी की इस याचिका को स्‍वीकार कर लिया है. अब सुप्रीम कोर्ट इसको पहले से लंबित मोरोटोरियम मामलों के साथ जोड़कर सुनवाई करेगा. आपको बता दें कि 26 अगस्त को पूर्व की याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने सरकार को कड़ी फटकार लगाते हुए कहा था कि वह इस मामले में आरबीआई की आड़ न ले और एक सप्ताह के भीतर ही अपना रुख स्पष्ट करे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here