इलाहाबाद विश्वविद्यालय में फीस वृद्धि को लेकर प्रदर्शन कर रहे छात्रों को प्रोफेसर कुलपति ने कही ये बात

0
48
Allahabad university
Allahabad university

इलाहाबाद विश्वविद्यालय में फीस बढोतरी के विरोध में चल रहे छात्र आंदोलन गर्मा रहा है। अब इसके बीच  विश्वविद्यालय की कुलपति प्रोफेसर संगीता श्रीवास्तव ने अपना बयान दिया है, उन्होने कहा कि फीस वृद्धि के बाद विश्वविद्यालय का मासिक शुल्क लगभग 333 रुपये है। उन्होने कहा कि छात्रों द्वारा यह बात फैलाई जा रही है कि फीस में 400 गुना वृद्धि की गई है जिसमें बिल्कुल भी सच्चाई नहीं है।

प्रोफेसर ने दावा किया कि 30-40 विद्यार्थी झूठ के सहारे पूरे विश्वविद्यालय का वातावरण बर्बाद करने की प्रयास कर रहे हैं। कुलपति ने आंदोलनकारी छात्रों से यह पता करने को कहा कि कौन से शिक्षण संस्थान मात्र 333 रुपये प्रतिमाह के शुल्क में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि पिछले कई सालों में बढ़ी महंगाई से मुकाबला करने के लिए फीस बढ़ाई गई है।

कई दशक से प्रति माह फीस 81 रुपये

प्रोफेसर संगीता श्रीवास्तव ने कहा कि पिछले कई दशक से विद्यार्थियों की साल की फीस 975 रुपये था, जो महीने के हिसाब से लगभग 81 रुपये बैठता है। वहीं, इसमें वृद्धि कर इसे 4,151 रुपये प्रति वर्ष कर दिया गया है जो अब प्रति माह लगभग 333 रुपये बैठता है।

मैं केवल सही तथ्यों को रिकॉर्ड में रखना चाहती हूं और अनुरोध करती हूं कि पूर्व का यह पुराना ऑक्सफोर्ड अद्वितीय है, अब यह अपने अधिकांश विभागों में विश्व स्तरीय संकाय में समृद्ध है, इसे गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करना और इसकी महिमा बनाए रखना रखें। आने वाली पीढ़ी अच्छी तरह शिक्षित हो, सभी गरीब और सभी अमीर आकर कक्षा में बैठें।

कुलपति ने यह भी कहा की, जो लोग इतने गरीब हैं और कोविड में अनाथ हैं, मैं अपना वचन दे रही हूं,  विश्वविद्यालय उनकी पूरी फीस माफ कर देगा। जो भी धनराशि एकत्र की जाएगी, उससे विश्वविद्यालय को छात्रों को बेहतर सुविधाएं प्रदान करने में मदद मिलेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here