स्पूतनिक-वी की दूसरी खेप भारत पहुंची, रूस ने की मदद

वैक्सीन के भारत पहुंचने के बाद रूसी राजदूत एन कुदाशेव ने इस वैक्सीन Sputnik V को रशियन-इंडियन वैक्सीन का नाम दिया।

0
216
Sputnik V
वैक्सीन के भारत पहुंचने के बाद रूसी राजदूत एन कुदाशेव ने इस वैक्सीन Sputnik V को रशियन-इंडियन वैक्सीन का नाम दिया।

Hyderabad: कोरोना को देखते हुए भारत में स्पुतनिक वैक्सीन (Sputnik V) का दूसरा बैच आ गया है। आज सुबह तेलंगाना के हैदराबाद एयरपोर्ट पर विमान लैंड हुआ है। वैक्सीन के भारत पहुंचने के बाद रूसी राजदूत एन कुदाशेव ने इस वैक्सीन (Sputnik V) को रशियन-इंडियन वैक्सीन का नाम दिया। 

कोरोना की दूसरी लहर में दिख रही कमी! हफ्ते भर में तेजी से घटे केस

रुस और भारत साथ

रूसी राजदूत कुदाशेव ने कहा कि हमें खुशी है कि रूस और भारत साथ मिलकर कोरोना से जंग लड़ रहे हैं। दोनों देश एक-दूसरे की मदद कर रहे हैं। दरअसल Sputnik V विदेश में निर्मित पहली ऐसी वैक्सीन है, जिसे भारत के लिए यूज किया गया है। Sputnik V का पहला बैच 1 मई, 2021 को भारत पहुंचा था। 

इस बार वक्त से पहले पहुंच सकता है मानसून, जानें केरल और छत्तीसगढ़ में कब पहुंचेगा

रुस में कब लगाई गई Sputnik V

रुस में 2020 से लोगों को ये वैक्सीन लगाई गई थी। रूस के स्पेशलिस्ट का मानना है कि Sputnik V कोरोना के स्ट्रेन के कारगार साबित हुआ है। 

देश से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें National News in Hindi 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here