सोनिया गांधी को लिखे पत्र की नींव इस सांसद के घर पर रखी गई…

कांग्रेस पार्टी में बदलाव की मांग को लेकर 23 नेताओं द्वारा सोनिया गांधी को लिखे पत्र की नींव पांच महीने पहले पड़ी।

0
394
Congress Meeting
सोनिया गांधी को लिखे पत्र की नींव सांसद शशि थरूर के घर पर रखी गई

New Delhi: कांग्रेस (Congress) में जिन 23 नेताओं के चिट्ठियों पर बवाल मचा हुआ है, उसे पांच महीने पहले पार्टी के सांसद शशि थरूर (Shashi Tharoor) के घर पर किया गया था। एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि थरूर के घर पर डिनर के वक्त इस पर चर्चा हुई। इस मीटिंग में (Congress Meeting) कई कांग्रेस नेताओं को आमंत्रित किया गया था। हालांकि कई लोग जो इस डिनर का हिस्सा थे, उन्होंने इस पर दस्तखत नहीं किए।

राहुल गांधी के आरोप पर कांग्रेस नेताओं ने दिया ये जवाब..

थरूर के डिनर में शामिल होने वाले नेता जिन्होंने पत्र पर हस्ताक्षर नहीं किए उनमें पी चिदंबरम (P. Chidambaram), उनके बेटे कार्ति चिदंबरम (Karti Chidambaram), सचिन पायलट (Sachin Pilot), अभिषेक मनु सिंघवी (Abhishek Singhvi) और मणिशंकर अय्यर (Mani Shankar Aiyar) थे। मौजूद कांग्रेस नेताओं में से ही किसी ने इस बात की पुष्टि की गई है। वहीं मनु सिंघवी ने रात के खाने में अपनी उपस्थिति (Congress Meeting) होने के बारे में बताया।

उन्होंने कहा कि- मुझे एक दिन के नोटिस पर शशि थरूर द्वारा रात के खाने पर आमंत्रित किया गया था। पार्टी के भीतर सुधारों के मुद्दे पर चर्चा हुई। इसके बाद, मुझे पत्र के बारे में सूचित नहीं किया गया था। इसके अलावा पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम (P. Chidambaram) ने कहा कि वह पार्टी के मामलों पर कोई कमेंट नहीं करना चाहते। वहीं हाल ही कांग्रेस से बगावत कर चुके सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने भी इस मामले पर कोई टिप्पणी करने से मना कर दिया। रिपोर्ट के मुताबिक, शशि थरूर ने इस मामले में फोन कॉल्स और संदेशों का जवाब नहीं दिया।

कांग्रेस CWC की बैठक आज, नए अध्यक्ष के नाम पर होगी चर्चा

मालूम हो कि पार्टी की कांग्रेस वर्किंग कमेटी (CWC) ने सोमवार के दिन बैठक में नेताओं द्वारा हस्ताक्षरित विवादा पत्र पर चर्चा की और फिर स्थिति को बनाए रखने का निर्णय लिया, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बैठक में आरोप लगाया है कि जिन्होंने इस वक्त चिट्ठी लिखी है वो भारतीय जनता पार्टी से मिले हुए हैं। राहुल गांधी के इस आरोप के बाद पार्टी के अंदर ही सियासी वबाल शुरू हो गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here