रूस की वैक्सीन को बड़ा झटका, भारत ने बड़े स्तर पर ट्रायल की नहीं दी मंजूरी

भारत ने रूस की कोरोना वैक्सीन Sputnik-V का देश में बड़े पैमाने पर स्टडी के लिए ट्रायल की अनुमति देने से इनकार कर दिया है।

0
270
Corona Vaccine Sputnik-V
Corona Vaccine News: इनकार के बाद आखिरकार रूस की कोरोना वैक्सीन Sputnik-V का भारत में जल्द ही ट्रायस शुरू किया जाएगा।

New Delhi: रूस की वैक्सीन Sputnik-V दुनिया की पहली रजिस्टर्ड वैक्सीन (Russia Vaccine Update) है। वैक्सीन के सफल होने के बाद भारत ने रूस की कोरोना वैक्सीन का देश में बड़े पैमाने पर स्टडी के लिए ट्रायल की अनुमति देने से इनकार कर दिया है। सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गेनाइजेशन (CDSCO) ने डॉ रेड्डी लेबोरेटरीज लिमिटेड के देश में रूसी वैक्सीन का असर जानने के लिए बड़े पैमाने पर ट्रायल के प्रस्ताव को अस्वीकार कर दिया है।

देश में कोरोना का रिकवरी रेट 85.25 प्रतिशत, 58 लाख से ज्यादा मरीज हुए ठीक

केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन ने पहले इस वैक्सीन (Russia Vaccine Update) का छोटे स्तर पर ट्रायल करने को कहा है। सीडीएससीओ के विशेषज्ञों के एक पैनल का कहना है कि विदेशों में Sputnik-V के किए जा रहे प्रारंभिक चरण की स्टडी में इसकी सुरक्षा और इम्युनोजेनेसिटी को लेकर बहुत कम डेटा मिला है। इसमें भारतीय वॉलंटियर्स का कोई इनपुट भी नहीं है।

भारत के इस फैसले के बाद रूस वैक्सीन को शुरू करने की तैयारियों को झटका लगा है। कोरोना वैक्सीन को मंजूरी मिलने के बाद से रूस ने बड़े पैमाने पर इस वैक्सीन का परीक्षण किया है। हालांकि कई डॉक्टर और वैज्ञानिकों ने रूसी वैक्सीन की सेफ्टी और प्रभाव को लेकर सवाल उठाए थे। रूस की सरकार ने सितंबर की शुरुआत में स्पूतनिक-5 वैक्सीन की पहली खेप आम लोगों के लिए जारी कर दी थी।

कोरोना के खिलाफ ‘जन आंदोलन’ की शुरुआत करेंगे पीएम मोदी

रूस किसी ऐसे देश वैक्सीन को अप्रूव करने की कोशिश करने में जुटा था जहां कोरोना के नए केसों की संख्या दुनिया में बहुत ज्यादा हो। अमेरिका के बाद भारत ही कोरोना संक्रमण के मामले में दुसरे नंबर पर है। बता दे कि Sputnik-V वैक्सीन की मार्केटिंग करने वाली रसियन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड (RDIF) और डॉ रेड्डी लेबोरेटरीज लिमिटेड ने पिछले महीने भारत में इस वैक्सीन के क्लीनिकल ट्रायल और वितरण को लेकर समझौते का ऐलान किया था।


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here