राहुल गांधी ने नरेंद्र मोदी को बताया RSS का प्रधानमंत्री, भारत माता से झूठ बोलने का लगाया आरोप…

नागरिकता संशोधन एक्ट (CAA) को लेकर विपक्ष और सत्ता पक्ष में बयानबाजी थमने का नाम नहीं ले रही है। पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को डिटेंशन सेंटर के दावों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को झूठा बताया, हालांकि इस पर बीजेपी ने बिना देर किए जवाब दिया। 

0
715
Rahul-Gandhi

नागरिकता संशोधन एक्ट (CAA) को लेकर विपक्ष और सत्ता पक्ष में बयानबाजी थमने का नाम नहीं ले रही है। पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को डिटेंशन सेंटर के दावों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को झूठा बताया, हालांकि इस पर बीजेपी ने बिना देर किए जवाब दिया।

BJP आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने 2011 की असम सरकार की प्रेस रिलीज ट्वीट की। दरअसल, असम सरकार की इस प्रेस रिलीज में 362 अवैध घुसपैठियों को तीन डिटेंशन कैंप में भेजने की बात कही गई है। इतना ही नहीं अमित मालवीय ने ट्वीट कर लिखा, अगर राहुल गांधी बिना वीज़ा के विदेश की यात्रा करेंगे, तो उन्हें भी वहां डिटेंशन सेंटर में डाल दिया जाएगा।

अमित मालवीय ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘राहुल गांधी समय-समय पर विदेश जाते रहते हैं. एक बार उन्हें वीज़ा लिमिट से अधिक वहां पर रुकना चाहिए, और देखना चाहिए कि किस तरह उनकी पहचान की जाती है और फिर वापस भेजने से पहले कैसे उन्हें डिटेंशन सेंटर में डाला जाता है। तब वह सीख पाएंगे कि कैसे दूसरे देश अवैध घुसपैठियों के साथ डील करते हैं।’

बता दें कि राहुल गांधी ने गुरुवार सुबह असम के गोवालपारा में बन रहे डिटेंशन सेंटर की वीडियो ट्वीट की।  उन्होंनें इस ट्वीट पर लिखा कि RSS का प्रधानमंत्री भारत माता से झूठ बोलता है।

मालवीय ने एक प्रेस रिलीज़ भी जारी कर लिखा, साल 2011 में असम की कांग्रेस सरकार ने एक प्रेस रिलीज़ जारी की थी, जिसमें 362 अवैध घुसपैठियों को डिटेंशन कैंप में भेजने की बात कही गई थी. सिर्फ इसलिए कि भारत ने आपको नकार दिया है, अब क्या आप नफरत से इसे नष्ट करने में जुट जाएंगे ?

उल्लेखनीय है कि 2011 में असम में कांग्रेस की सरकार थी, तरुण गोगोई राज्य के मुख्यमंत्री थे। राहुल गांधी ने गुरुवार सुबह असम के गोवालपारा में बन रहे डिटेंशन सेंटर की वीडियो ट्वीट की। उन्होंने लिखा कि RSS का प्रधानमंत्री भारत माता से झूठ बोलता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here