Rahul Gandhi ने ट्वीट कर साधा पीेएम मोदी पर निशाना, कही यें बड़ी बातें

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने वीडियो के जरिए चीन को लेकर मोदी सरकार की नीतियों पर सवाल उठाए। राहुल गांधी ने कहा कि यह साधारण सीमा विवाद नहीं है। मेरी चिंता है कि चीनी आज हमारे इलाके में बैठे हैं।

0
393
Rahul Gandhi

New Delhi: कांग्रेस लगातार चीन विवाद को लेकर मोदी सरकार को घेरने में लगी हुई है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने सोमवार को एक बार फिर चीन के मुद्दे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि पीएम ने सत्ता में आने के लिए अपनी नकली मजबूत छवि को गढ़ा है।

दुनिया की कोई भी ताकत हमारी एक इंच भी जमीन नहीं ले सकती : राजनाथ सिंह

राहुल गांधी ने सोमवार को एक ट्वीट किया (Rahul Gandhi) और इसके साथ चीन की रणनीति को लेकर एक वीडियो को भी साझा किया। उन्होंने कहा, ‘सत्ता के लिए मोदी ने मजबूत नेता होने का भ्रमजाल फैलाया। यही उनकी सबसे बड़ी ताकत थी। अब यही इंडिया की सबसे बड़ी कमजोरी हो गई है।’ कांग्रेस नेता ने ट्वीट के साथ अपना वीडियो स्टेटमेंट भी जारी किया जिसमें उन्होंने आरोप लगाया कि पीएम अपनी 56 इंची छवि को बचाने में लगे हैं और चीन इसी बात का फायदा उठा रहा है।

इसके अलावा पीएम पर सवाल उठाते हुए राहुल गांधी ने कहा कि, ”चीन नरेंद्र मोदी से कह रहा है अगर आप वो नहीं करेंगे जो चीन चाहता है तो हम नरेंद्र मोदी की मजबूत नेता की छवि को खत्म कर देंगे। मेरी चिंता है कि प्रधानमंत्री दबाव में आ गए हैं, मेरी चिंता है कि चीनी हमारी जमीन पर बैठे हैं और प्रधानमंत्री खुलेआम कह रहे हैं कि वो नहीं है। इससे साफ पता चलता है कि वह अपनी छवि को लेकर चिंतित हैं, और अपनी छवि बचाने का प्रयास कर रहे हैं।”

गलवान घाटी पर 2 किमी पिछे हटे चीनी सैनिक

राहुल गांधी ने कहा कि चीन जो कुछ भी करता है उसके पीछे उसकी रणनीति होती है, जिसे समझने की जरूरत है। उन्होंने कहा, ‘यह सिर्फ एक सामान्य सीमा विवाद नहीं है। मेरी चिंता यह है कि चीनी हमारे इलाके में बैठे हुए हैं। चीनी बिना रणनीतिक लिहाज से सोचे-समझे कुछ भी नहीं करते हैं। इसलिए जब आप चीन के बारे में सोचते हैं तो आपको इन चीजों के बारे में सोचना होगा।’

साथ ही उन्होंने मोदी सरकार को चेताया कि चीन पाकिस्तान के साथ मिलकर कश्मीर में कोई गड़बड़ी करने की फिराक में है। उन्होंने कहा, ‘सामरिक स्तर पर वे अपनी स्थिति मजबूत करने की कोशिश कर रहे हैं। चाहे गलवान हो, डेमचोक हो या फिर पैंगोंग लेक है। वे अपनी स्थिति मजबूत करना चाहते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here