क्या यशंवत बनेंगे विपक्ष के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार? आज विपक्षी दल की बैठक में ऐलान संभव

0
41
Presidential Election 2022
Presidential Election 2022

Presidential Election 2022: भारत में 18 जुलाई को राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव प्रस्तावित हैं, उससे पहले विपक्षी पार्टियां साझा उम्मीदवार चुनावी मैदान में उतारने की तैयारी में हैं। NCP के संरक्षक शरद पवार ने जब उम्मीदवार बनने से इंकार कर दिया तो, फारुक अब्दुल्ला और गोपाल कृष्ण गांधी का नाम सुझाया गया। हालांकि, इन दोनों ने भी अलग-अलग वजहों से  राष्ट्रपति चुनाव के लिए उम्मदीवार बनने से इंकार कर दिया।

यशवंत सिन्हा के नाम पर विचार

इस मुहिम में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) बढ़चढ़ कर हिस्सा ले रही हैं। राष्ट्रपति चुनाव के लिए अब विपक्ष की ओर से पूर्व वित्त मंत्री और TMC उपाध्याक्ष यशवंत सिन्हा का नाम सुझाने की तैयारी है।

अंग्रेजी अखबार टेलिग्राफ की एक खबर के मुातबिक TMC नेता अभिषेक बनर्जी राष्ट्रपति उम्मीदवार के तौर पर आज यशवंत सिन्हा के नाम का प्रस्ताव दे सकते हैं।

आज होगी विपक्षी दलों की बैठक

राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवार के चुनाव को लेकर आज विपक्षी (Presidential Election 2022) दलों की फिर से बैठक होगी। ये बैठक दिल्ली में NCP प्रमुख शरद पवार (Sharad Pawar) के घर पर होगी, आज TMC की तरफ से अभिषेक बनर्जी इस बैठक का हिस्सा बनेंगे। अभिषेक बनर्जी ने सोमवार को इस बैठक के बारे में जानकारी देते हुए कहा था, “कल बैठक होने वाली है, मैं पार्टी का प्रतिनिधित्व करूंगा। शरद पवार के नाम पर सभी विपक्षी दलों की सहमति थी लेकिन वो चुनाव नहीं लड़ना चाहते।”

यशवंत सिन्हा ने दिए संकेत

राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवार बनने के संकेत खुद यशवंत सिन्हा (Yashwant Sinha) ने दिए। उन्होंने इस संबंध में ट्वीट कर लिखा, TMC में ममता जी ने मुझे जो सम्मान और प्रतिष्ठा दी, उसके लिए मैं उनका आभारी हूं। अब समय आ गया है जब एक बड़े राष्ट्रीय उद्देश्य के लिए मुझे पार्टी से हटकर विपक्षी एकता के लिए काम करना होगा। मुझे यक़ीन है कि वे इस क़दम को स्वीकार करेंगी।”

शरद पवार ने वापस लिया था नाम

विपक्षी दल संयुक्त राष्ट्रपति उम्मीदवार के नाम पर जोर-शोर से विचार-विमर्श में जुटी है। इस उम्मीदवारी के लिए पहले नाम NCP प्रमुख शरद पवार का सुझाया गया था, लेकिन उन्होंने राष्ट्रपति चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया था।

उन्होंने ट्वीट कर लिखा था, “मैं दिल्ली में हुई बैठक में भारत के राष्ट्रपति चुनाव के लिए उम्मीदवार के तौर पर मेरा नाम सुझाने के लिए विपक्षी दलों के नेताओं की तहे दिल से सराहना करता हूं। हालांकि, मैं यह बताना चाहता हूं कि मैंने अपनी उम्मीदवारी के प्रस्ताव को विनम्रतापूर्वक अस्वीकार कर दिया है।”

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here