President Election: एक के बाद एक कई उम्मीदवारों ने ठुकराया विपक्ष का प्रस्ताव, अब महात्मा गाँधी के पौत्र ने भी किया मना

0
47
President Election 2022
Image Source-Amar Ujala

President Election 2022: राष्ट्रपति का चुनाव दिन-प्रतिदिन रोमांचित होता जा रहा है। पहले एनसीपी प्रमुख शरद पवार, नेशनल कांफ्रेंस के मुखिया फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) और पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवेगौड़ा (HD Deve Gowda) के बाद अब महात्मा गांधी के पौत्र और पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल गोपाल कृष्ण गांधी (Gopal Krishna Gandhi) ने भी विपक्ष की तरफ से दिए गए ऑफर को ठुकरा दिया है। उन्होंने साफ कहा कि वह विपक्ष की तरफ से राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार नहीं बन सकेंगे।

एक तरफ जहां, भाजपा की अगुआई वाली एनडीए ने प्रत्याशी की खोज तेज कर दी है तो, वहीं विपक्ष से हर बड़ा शख्स खुद की उम्मीदवारी से पीछे हटता दिखाई दे रहा है। ऐसे में सवाल ये उठता है कि पहले पवार, देवेगौड़ा, फारूक अब्दुल्ला और फिर गोपाल कृष्ण गांधी क्यों विपक्ष की तरफ से राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनना नहीं चाहते ? इस इलेक्शन को लेकर विपक्ष तो एकजुट होने की कोशिश में हैं लेकिन उनके उम्मीदवार अपना कदम पीछे खींच लेते हैं।

फारूक, पवार और गांधी ने क्या कहा जानिए

फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) ने अपने बयान में कहा कि ‘मैं भारत के राष्ट्रपति पद के लिए संभावित संयुक्त विपक्षी उम्मीदवार के रूप में अपने नाम के विचार को वापस लेता हूं। मेरा मानना है कि जम्मू-कश्मीर एक महत्वपूर्ण मोड़ से गुजर रहा है और इन अनिश्चित समय में नेविगेट करने में मदद के लिए मेरे प्रयासों की आवश्यकता है।’

आगे उन्होंने यह भी कहा, ‘मेरे आगे बहुत अधिक सक्रिय राजनीति है। मैं जम्मू-कश्मीर और देश की सेवा में सकारात्मक योगदान देने के लिए तत्पर रहूँगा। मेरा नाम प्रस्तावित करने के लिए मैं ममता दीदी का आभारी हूं। मैं उन सभी वरिष्ठ नेताओं का भी आभारी हूं, जिन्होंने मुझे अपना समर्थन दिया।’

शरद पवार (Sharad Pawar) ने कहा कि ‘मैं राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारों की दौड़ में नहीं हूं। जल्द ही विपक्ष की तरफ से संयुक्त प्रत्याशी की घोषणा कर दी जाएगी।’

गोपाल कृष्ण गांधी ने कहा कि ‘मेरे नाम पर विचार करने के लिए विपक्षी नेताओं को धन्यवाद। विपक्ष को राष्ट्रपति उम्मीदवार के लिए राष्ट्रीय आम सहमति बनानी चाहिए। कई और भी नेता होंगे जो इसे मुझसे बेहतर कर सकेंगे।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here