जवानों के साथ जैसलमेर में पीएम मोदी ने मनाई दिवाली, सैनिकों का बढ़ाया हौसला

पीएम मोदी ने सुरक्षा बल और भारतीय सेना के जवानों संग राजस्थान के जैसलमेर में लोंगेवाला बॉर्डर पर दिवाली मनाई।

0
176
PM Modi Jaisalmer Diwali
जवानों के साथ जैसलमेर में पीएम मोदी ने मनाई दिवाली, सैनिकों का बढ़ाया हौसला

New Delhi: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) देश की कमान संभालने के बाद से ही हर साल दिवाली देश के सैनिकों के साथ मनाते है। और इस बार पीएम मोदी ने सुरक्षा बल (Border Security Forces) और भारतीय सेना (Indian Army) के जवानों संग राजस्थान के जैसलमेर में लोंगेवाला बॉर्डर पर दिवाली (PM Modi Jaisalmer Diwali) मनाई। इस दौरान उनके साथ सीडीएस बिपिन रावत, सेना प्रमुख एम. एम. नरवणे और बीएसएफ के महानिदेशक राकेश अस्थाना उपस्थित हैं।

प्रधानमंत्री ने जवानों को संबोधित करते हुए कहा कि ‘मैं आज आपके बीच प्रत्येक भारतवासी की शुभकामनाएं लेकर आया हूं, आपके लिए प्यार लेकर आया हूं, आशीष लेकर आया हूं। मैं आज उन वीर माताओं-बहनों और बच्चों को भी दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं देता हूं, उनके त्याग को नमन करता हूं, जिनके अपने सरहद पर हैं।’

पीएम मोदी ने सैनिकों के शौर्य और पराक्रम की तारीफ की। उन्होंने कहा कि ‘आपके इसी शौर्य को नमन करते हुए आज भारत के 130 करोड़ देशवासी आपके साथ मजबूती से खड़े हैं। आज हर भारतवासी को अपने सैनिकों की ताकत और शौर्य पर गर्व है। उन्हें आपकी अजेयता पर, आपकी अपराजेयता पर गर्व है। पीएम ने कहा आज का भारत समझने और समझाने की नीति पर विश्वास रखता है लेकिन अगर हमें आजमाने की कोशिश की तो जवाब उतना ही प्रचंड रूप से दिया जाएगा।

कुछ इस तरह पीएम मोदी और राष्ट्रपति ने दी दिवाली की शुभकामनाएं

प्रधानमंत्री ने सैनिकों से (PM Modi Jaisalmer Diwali) आग्रह करते हुए कहा कि ‘मैं आपसे तीन आग्रह करना चाहता हूं। पहला- कुछ न कुछ नया Innovate करने की आदत को अपनी रोजमर्रा की जिंदगी का हिस्सा बनाइए। आजकल कई जगहों पर हमारे जवान महत्वपूर्ण इनोवेशंस कर रहे हैं। दूसरा- योग को अपने जीवन का हिस्सा बनाए रखिए। और तीसरा- अपनी मातृभाषा, हिंदी और अंग्रेजी के अलावा, कम से कम एक भाषा जरूर सीखिए। आप देखिएगा, ये बातें आपमें एक नई ऊर्जा का संचार करेंगी।

चीन पर निशाना साधते हुए पीएम बोले कि आज विस्तारवादी नीति की दुनिया आलोचना कर रही है। बता दें कि जैसलमेंर का लोंगेवाला पोस्ट पश्चिमी सीमा पर एक रणनीतिक पोस्ट है जहां 1971 की लड़ाई लड़ी गई थी जिसे लोंगेवाला की लड़ाई के रूप में जाना जाता है। इसी पोस्ट पर 1971 में भारतीय सेना ने पाकिस्तान को मात दी थी।

जानिए दिवाली के दिन आखिरी मेट्रो कब तक मिलेगी?

वहीं लोंगेवाला की लड़ाई को लेकर पीएम ने कहा कि ‘जब भी सैन्य कुशलता के इतिहास के बारे में लिखा पढ़ा जाएगा तब बैटल ऑफ लोंगेवाला को याद किया जाएगा। ये वो समय था जब पाकिस्तान की सेना बांग्लादेश की जनता पर जुल्म कर रही थी। इन हरकतों से पाकिस्तान का घृणित चेहरा उजागर हो रहा था। इन सबसे दुनिया का ध्यान हटाने के लिए पाकिस्तान ने हमारे देश की पश्चिमी सीमा पर मोर्चा खोल दिया।

पीएम ने आगे कहा कि पाकिस्तान को लोंगवाला की लड़ाई के दौरान लगता था कि ऐसा करके बांग्लादेश के पाप छिपा लेंगे, लेकिन पाकिस्तान को लेने के देने पड़ गए। इस पोस्ट पर पराक्रम की गूंज ने दुश्मन का हौसला पस्त कर दिया।मेजर कुलदीप सिंह चांदपुर की नेतृत्व में दुश्मन को धूल चटा दिया।

देश से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें National News in Hindi


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें और Twitter पर फॉलो करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here