Omicron को लेकर BMC ने जारी की नई गाइडलाइन, क्या फिर स्कूल और शादी समारोह में लगेगी पाबंदी ?

0
78
Omicron in India
नए कोविड-19 वैरिएंट Omicron के बढ़ते मामलों के बीच, महाराष्ट्र के मुंबई ने नए दिशानिर्देश जारी कर दिए है।

नए कोविड-19 वैरिएंट (Omicron in India) के बढ़ते मामलों के बीच, महाराष्ट्र के मुंबई ने नए दिशानिर्देश जारी कर दिए हैं। क्रिसमस और नए साल के जश्न को ध्यान में रखते हुए शहर के अंदर प्रतिबंध लगा दिया है। मंगलवार को, बीएमसी (नगर निगम) ने नए दिशानिर्देश पेश किए, जिसमें कहा गया था कि लोगों 50 प्रतिशत क्षमता तक बंद जगाहों में अनुमति दी जाएगी और खुले स्थानों में 25 प्रतिशत क्षमता की मंजूरी हैं।

Omicron को लेकर केंद्र सरकार की नई गाइडलाइन

  1. देश में ओमिक्रॉन (Omicron) के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे है। अब तक देश में 14 राज्यों में 220 केस सामने आ चुके। ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों को देखते हुए केंद्र सरकार ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को पत्र लिखकर कड़े कदम उठाने को कहा हैं।
  2. केंद्र सचिव ने अपने पत्र में जिला स्तर पर कंटेनमेंट जोन बनाने, कंटेनमेंट जोन की सीमा तय करने, केसों की लगातार समीक्षा करने, अस्पतालों में सुविधाएं बढ़ाने जैसे कदम उठाने के आदेश दिए हैं।
  3. सभी राज्यों से बेड की संख्या बढ़ाने, एंबुलेंस और बाकी मशीनरी बढ़ाने और ऑक्सीजन से लेकर दवाओं तक की सलाह दी गई हैं।
  4. केंद्र ने कहा है कि ओमिक्रॉन को देखते हुए नेशनल क्लीनिक मैनेजमेंट प्रोटोकॉल में कोई बदलाव नहीं होगा।
  5. होम आइसोलेशन के नियमों का कड़ाई से पालन कराया जाए। होम आइसोलेशन के वक्त कॉल सेंटर और होम विजिट के द्वारा उसकी जानकारी ली जाए। इस बात का खास ख्याल रखा जाए कि होम आइसोलेशन में रहने वाले व्यक्ति से बाकी लोग बच कर रहे।
  6. कोरोना के नए क्लस्टर कंटेनमेंट और बफर जोन बनाए जाएं। कंटेनमेंट में ही संक्रमण को रोकने के लिए कड़े कदम उठाए, सभी क्लस्टर में सैंपल को जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजा जाए।

भारत में अब तक कितने मामले सामने आये

देश में अब तक ओमीक्रॉन (Omicron Variant) के 200 मामले सामने आ चुके हैं। जबकि पहला मामला 2 दिसंबर कर्नाटक में देखा गया था। इसके बाद धीरे-धीरे बाकी राज्यों में भी नए मामले देखने को मिले। सबसे ज्यादा मामले मुंबई से सामने आए है। WHO के निदेशक ने कहा जब ये एक देश में फैल गया तो समझ लीजिये की पूरी दुनिया में फैलेगा। एशिया महाद्धीप के मुकाबले यूरोपीय महाद्धीप ओमीक्रॉन से ज्यादा पीड़ित है। ओमीक्रॉन को लेकर डॉ हंस कुल्ग ने बताया की यूरोपीय महादीप में हर तीसरे दिन मामले दोगुने होते दिख रहे रहे हैं। ये बेहद चिंताजनक है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here