PNB स्कैम: नीरव मोदी के भारत प्रत्यर्पण पर ब्रिटेन कोर्ट 25 फरवरी को सुना सकती है फैसला

देश का भगोड़ा हीरा कारोबारी नीरव मोदी के भारत प्रत्यर्पण को लेकर ब्रिटिश कोर्ट 25 फरवरी को फैसला सुना सकता है

0
516

New Delhi: देश का भगोड़ा हीरा कारोबारी नीरव मोदी (Nirav Modi) के भारत प्रत्यर्पण को लेकर ब्रिटिश कोर्ट 25 फरवरी को फैसला सुना सकता है। नीरव मोदी के प्रत्यर्पण मामले की सुनवाई पूरी हो चुकी है। नीरव मोदी के भारत को प्रत्यर्पण मामले में ब्रिटेन की अदालत में अंतिम सुनवाई में बताया गया कि नीरव मोदी पोंजी जैसी एक योजना के लिए जिम्मेदार है, जिसके कारण पंजाब नेशनल बैंक (PNB) में एक बड़ी धोखाधड़ी हुई। दो दिवसीय सुनवाई का शुक्रवार को दूसरा दिन था। 

भंडारा के जिला अस्पताल में धुंआ-धुंआ, 10 बच्चों की मौत

भारत सरकार की ओर से इस मामले की पैरवी अदालत में ब्रिटेन की क्राउन अभियोजन सेवा (Crown Prosecution Service) कर रही है। बता दें कि नीरव मोदी ने दक्षिण-पश्चिम लंदन स्थित वैंड्सवर्थ जेल से वीडियो लिंक के जरिए इस सुनवाई में भाग लिया।

जानिए क्या है पूरा मामला-

नीरव मोदी (Nirav Modi) ने पंजाब नेशनल बैंक के साथ करीब 2 अरब डॉलर की धोखाधड़ी की थी। इसे लेकर भारत में कई जांच एजेंसियों ने उनके खिलाफ मामले दर्ज (PNB Scam) किए हैं। ब्रिटेन की CPS के जरिए भारत नीरव के प्रत्यर्पण की मांग कर रहा है। नीरव मोदी 19 मार्च 2019 को गिरफ्तार होने के बाद से जेल में है। उसने कई बार जमानत हासिल करने की कोशिश की थी, लेकिन हर बार उसकी याचिका खारिज हो गई। बता दें 2019 में भारत सरकार ने नीरव मोदी को भगोड़ा घोषित कर दिया था।

सरकारी जांच एजेंसियों के मुताबिक नीरव मोदी (Nirav Modi) और मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) ने कुछ बैंक अधिकारियों के साथ मिलकर गारंटी पत्र के जरिए पंजाब नेशनल बैंक के साथ 14 हजार करोड़ रुपए का फ्रॉड किया है। नीरव को 2019 में भगोड़ा घोषित कर दिया गया था। 

किसानों के विरोध के बीच केंद्र सरकार ने 42 सुधारों की सूची की तैयार..

दोनों पक्षों के वकीलो ने दिए ये तर्क-

नीरव मोदी (Nirav Modi) की वकील क्लेयर मोंटगोमरी की नीरव मोदी के भारत प्रत्यर्पण पर की गई प्रमुख आपत्तियों में से एक ये है कि नीरव मोदी के खिलाफ प्रथम दृष्टया मामला नहीं बनता है जिसे हेलेन मैल्कम ने इस तर्क से काउंटर किया कि मोदी पर लगे आरोप ब्रिटिश कानून के तहत समान आपराधिक आरोप है। मेल्कम ने ये भी कहा कि नीरव मोदी के खिलाफ काफी सबूत हैं।

उन्होंने कोर्ट को बताया कि मोदी ने मुंबई में (PNB Scam) से ऋण लेने के संबंध में धोखाधड़ी की और ये सबूत मोदी के खिलाफ प्रथम दृष्टया मामला बनाने के लिए काफी हैं। मैल्कम ने भारत के उन आरोपों को भी दोहराया जिनमें मोदी ने गवाहों को परेशान किया और सर्वर, मोबाइल फोन को नष्ट करने के अलावा उसने एक गवाह को मारने की भी धमकी भी दी थी। 

देश से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें National News in Hindi 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here