Maha Navami 2022: हवन के लिए पहले से खरीद लें ये चीजें, इन तीन कार्यों को करने से बेहद खुश होंगी मां दुर्गा

0
82
Maha Navami 2022
Maha Navami 2022

Maha Navami 2022: 26 सितंबर 2022 को शुरु हुआ था नवरात्रि का त्योहार। नवरात्रि नौ दिन का त्योहार होता है। इन नौ दिनों में मां दुर्गा (Maa Durga) के नौ रूपों की पूजा की जाती है। वहीं 4 अक्टूबर 2022 को नवरात्रि का त्योहार समाप्त होने वाला है। आपको बता दें कि 3 तारीख को दुर्गा अष्टमी (Durga Ashtami) है और 4 तारीख को महानवमी (Maha Navmi) है। मां दुर्गा के जो भी भक्त व्रत रखते है, वे सब लोग अष्टमी और महानवमी को अपना उपवास खोलते है। इस दिन कन्या पूजन किया जाता है और हवन के बाद ही व्रत खोला जाता है।

ऐसे में अगर आप भी अपना व्रत खोलना चाहते है तो पहले ही पूजा और हवन की तैयारी कर लें। आपको बता दें कि दुर्गा अष्टमी और महानवमी की पूजा के लिए आपको हवन सामग्री और खास समान की ज्यादा जरूरत होती है। वहीं हवन से पहले पूजा सामग्री की एक लिस्ट तैयार कर लें, ताकि पूजा के वक्त किसी भी चीज की कोई कमी ना रह जाए। आइए आपको बताते है कि किन-किन चीजों की जरूरत आपको पूजा के दौरान पड़ सकती है।

Durga-Maa
Durga-Maa

हवन सामग्री की लिस्ट

3 अक्टूबर और 4 अक्टूबर को नवरात्रि पूर्ण रूप से समाप्त हो जाएगी। अष्टमी और नवमी के दिन लोग हवन कर अपना उवास खोलते है। वहीं आपको बता दें कि हवन सामग्री में हवन कुंड, आम की लकड़ी, चंदन की लकड़ी, पंचमेवा, जौ, गूलर की छाल, गोला, अश्वगंधा, कपूर, तिल, लौंग, गाय का घी, इलायची, शक्कर, नवग्रह की लकड़ी, पान और अक्षत की जरूरत आपको पड़ सकती है। इसलिए यह सभी चीजें पहले से ही आप लोग अपने पास खरीद कर रख लें ताकि पूजा के समय कोई दिक्कत ना आए।

हवन सामग्री
हवन सामग्री

आइए आपको बताते है कि ऐसे कौनसे तीन काम है जिसे अष्टमी और नवमी के दिन करने से मां दुर्गा आपसे अति प्रसन्न होंगी।

ये तीन काम जरूर करें

अश्विन शुक्ल पक्ष की महानवमी नवरात्रि महोत्सव का आखिरी दिन होता है। इस दिन मां दुर्गा के नौवें रूप मां सिद्धिदात्री (Mata Siddhidatri) की पूजा की जाती है। इस दिन इन तीन कार्यों को करने से मां दुर्गा आपसे अति प्रसन्न होंगी।

  • महानवमी के दिन कन्या पूजन का महत्व होता है। इस दिन नौ कन्याओं को भोजन कराना चाहिए। इस दिन इन सभी कन्याओं को मां दुर्गा का नौ रूप मानना चाहिए।
  • इस दिन सभी कन्याओं के साथ एक बालक को भी आमंत्रित करना चाहिए। वहीं उन्हें भोजन कराने के बाद उन्हें एक प्यारा सा उपहार भेंट करना चाहिए। कहा जाता है ऐसा करने से मां दुर्गा बहुत खुश होती है।
  • नवरात्रि की महानवमी पर हवन करने का विधान होता है। इसमें मां दुर्गा से सहस्त्रनामों का जाप करत हुए हवन में ध्यान लगाया जाता है। कहते है कि नवमी के दिन हवन करने से बीतें नौ दिनों का फल कई गुना जल्द प्राप्त होता है।

ऐसा करने से मां दुर्गा अपने भक्तों से बहुत प्रसन्न भी होती है। वहीं बीतें नौ दिनों का फल भी आपको शीघ्र ही प्राप्त होने की सम्भावना होती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here