Mann ki Baat : पीएम मोदी की मन की बात का 91वां एपिसोड, जानिए खास बाते    

0
50
पीएम मोदी की मन की बात का 91वां एपिसोड, जानिए खास बाते
पीएम मोदी की मन की बात का 91वां एपिसोड, जानिए खास बाते

Mann Ki Baat:  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज ‘मन की बात’ कार्यक्रम का आज 91वां एपिसोड था ,जिसके माध्यम से पीएम ने जनता को अपील करते हुए कई महत्वपूर्ण  बातों का जिक्र किया है, पहले तो उनहोनें देशवासियों कोअपने अपने में घर तिरंगा अभियान के तहत 13 से 15 अगस्त के बीच घर पर तिरंगा फहराने की अपील की है, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘मन की बात’ कार्यक्रम के माध्यम से देश को संबोधित किया। प्रधानमंत्री ने शहीद उद्यम सिंह को श्रद्धांजलि देते हुए कहा, आज के दिन ही  हम सभी देशवासी, शहीद उद्यम सिंह जी की शहादत को नमन करते हैं। मैं ऐसे अन्य सभी महान क्रांतिकारियों को अपनी विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं, जिन्होंने देश के लिए अपना सर्वस्व न्योछावर कर दिया।

अमृत महोत्सव एक जन आंदोलन का रूप ले रहा है

आपको बता दे की प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, मुझे ये देखकर बहुत खुशी होती है कि आजादी का अमृत महोत्सव एक जन आंदोलन का रूप ले रहा है  जिसका नाम है आजादी की रेलगाड़ी और रेलवे स्टेशन। इस प्रयास का लक्ष्य है कि लोग आजादी की लड़ाई में भारतीय रेल की भूमिका को जानें। आगे कहते है, झारखंड के गोमो जंक्शन को अब नेताजी सुभाष चंद्र बोस जंक्शन गोमो के नाम से  अब हम जानते है इस स्टेशन पर कालका मेल पर सवार होकर नेताजी सुभाष चंद्र बोस ब्रिटिश अधिकारियों को चकमा देने में सफल रहे। देश भर के 24 राज्यों में फैले ऐसे 75 रेलवे स्टेशनों की पहचान की गई है। इन 75 स्टेशनों को बेहद खूबसूरती से सजाया जा रहा है। इनमें कई तरह के कार्यक्रम भी आयोजित किए जा रहे हैं.

अमृत महोत्सव आयोजनों का सबसे बड़ा सन्देश

पीएम ने आगे कहते है, आजादी के अमृत महोत्सव में हो रहे इन सारे आयोजनों का सबसे बड़ा सन्देश यही है कि हम सभी  देशवासी  को अपने अपने कर्तव्य का पूरी  तरह से पालन करें। जिसके बाद ही  उन अनगिनत स्वतंत्रता सेनानियों का सपना पूरा करने में हम सर्मथ होगें । और जैसा वह कंलपना करते थे वैसे भारत बना पाएंगे। इसीलिए हमारे अगले 25 साल का ये अमृतकाल हर देशवासी के लिए कर्तव्यकाल की तरह है। हमारे वीर सेनानी हमें ये जिम्मेदारी देकर गए हैं और हमें इसे पूरी तरह निभाना है।

आयुर्वेद ग्रंथों में तो शहद को अमृत बताया गया है।

आपको बता दे की आगें वह आयुर्वेद ग्रंथों में तो शहद है उस पर बात करते हुए बताते है शहद को हमारे पारंपरिक स्वास्थ्य विज्ञान में कितना महत्व दिया गया है। आयुर्वेद ग्रंथों में तो शहद को अमृत बताया गया है। शहद, न केवल हमें स्वाद देता है बल्कि आरोग्य भी देता है। शहद उत्पादन में आज इतनी अधिक संभावनाएं हैं कि पढ़ाई करने वाले युवा भी इसे अपना स्वरोजगार बना रहे हैं। युवाओं की मेहनत से ही आज देश इतना बड़ा शहद उत्पादक बन रहा है। आपको जानकार खुशी होगी कि देश से शहद का निर्यात भी बढ़ गया है

13 से 15 अगस्त अपने घर पर तिरंगा जरूर फहराएं

प्रधानमंत्री ने कहा, आजादी के अमृत महोत्सव को ध्यान में रखकर उसके तहत, 13 से 15 अगस्त तक, एक विशेष अभियान चलाएगें ‘हर घर तिरंगा’ का आयोजन किया जा रहा है। इस अभियान का हिस्सा बनकर 13 से 15 अगस्त तक आप अपने घर पर तिरंगा जरूर फहराएं।

हमारे समाज जीवन की ऊर्जा का बहुत बड़ा स्त्रोत होते हैं

मेले अपने आप में हमारे समाज जीवन की ऊर्जा का बहुत बड़ा स्त्रोत होते हैं, आपके आस-पास भी ऐसे ही कई मेले होते होंगे, आधुनिक समय में समाज की ये पुरानी कड़ियाँ ‘एक भारत-श्रेष्ठ भारत’ की भावना को मजबूत करने के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। हमारे युवा जरूर उनसे जुड़ें और जब भी आप ऐसे मेलों में जाएं तो वहां की तस्वीरें सोशल मीडिया पर भी शेयर करें।

चेन्नई में 44वें चेस ओलंपियाड की मेजबानी करना भी भारत के लिए बड़े ही सम्मान की बात है

आपको बता दे की प्रधानमंत्री  आगे कहते है की, चेन्नई में 44वें चेस ओलंपियाड की मेजबानी करना भी भारत के लिए बड़े ही सम्मान की बात है, यूके में राष्ट्रमंडल खेलों की भी शुरुआत हुई थी युवा जोश से भरा भारतीय दल वहां देश का प्रतिनिधत्व कर रहा है। मैं सभी खिलाड़ियों को देशवासियों की ओर से शुभकामनाएं देता हूं, उन्होंने कहा, मुझे इस बात की भी खुशी है कि भारत फीफा अंडर-17 महिला विश्वकप की भी मेजबानी करने जा रहा है | यह टूर्नामेंट अक्तूबर के आस-पास होगा, जो खेलों के प्रति देश की बेटियों का उत्साह बढ़ाएगा ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here