‘लव जिहाद’ पर कानून बनाने को लेकर भड़के ओवैसी, कहा- पहले संविधान पढ़ें

AIMIM के चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने लव जिहाद Love Jihad के कानून बनाने वालों को संविधान पर ध्यना देने को कहा है।

0
85
Love Jihad
AIMIM के चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने लव जिहाद Love Jihad के कानून बनाने वालों को संविधान पर ध्यना देने को कहा है।

Hyderabad: AIMIM के चीफ असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने लव जिहाद (Love Jihad) के कानून बनाने वालों को संविधान पर ध्यना देने को कहा है। ओवैसी का कहना है कि ऐसा कोई भी कानून संविधान के अनुच्‍छेद 14 और 21 का उल्‍लंघन है। बीजेपी पर सांप्रदायिकता फैलाने का आरोप लगाकर ओवैसी ने कहा कि यह महज ग्रेटर हैदराबाद म्‍युनिसिपल कॉर्पोरेशन चुनावों को सांप्रदायिक रंग देना चाहते हैं। 

पीएम मोदी बोले- द्वितीय विश्व युद्ध के बाद कोविड-19 सबसे बड़ी चुनौती

ओवैसी ने कहा, ‘ऐसे कानून संविधान के अनुच्‍छेद 14 और 21 का उल्‍लंघन करते है। अगर ऐसा ही करना है तो स्‍पेशल मैरिज ऐक्‍ट (Love Jihad) को ही खत्‍म कर दें। देश में नफरत ना फैलाए । बीजेपी सरकार बेरोजगार युवाओं को भटकाना चाहती है। 

कुछ देशों के फायदे पर सीमित नहीं हो सकती दुनिया- विदेश मंत्री

कानून में क्या हो सकता है खास-

  • अगर लड़की का धर्म परिवर्तन सिर्फ विवाह के लिए किया गया तो शादी नहीं मानी जाएगी।
  • जबरदस्ती विवाह के लिए धर्म परिवर्तन के मामले में 5 साल तक की सजा और 15 हजार रुपये तक जुर्माना होगा।
  • धर्म परिवर्तन पर रोक संबंधी कानून बनाने को विधि आयोग ने उत्तर प्रदेश फ्रीडम ऑफ रीजनल बिल मुहैया करा दिया है।
  • नाबालिग लड़की, अनुसूचित जाति-जनजाति की महिला के जबरन धर्म परिवर्तन के मामले में दो से सात साल तक की सजा और कम से कम 25 हजार रुपये जुर्माने लगाया जाएगा।
  • सामूहिक धर्म परिवर्तन के मामलों में अधिकतम 10 साल की सजा और 50 हजार रुपये जुर्माने का प्रावधान होगा।  

यूपी में किया जा सकता है 5 से 10 साल की सजा का प्रावधान-

उत्तर प्रदेश के गृह विभाग ने लव जिहाद (Love Jihad) के खिलाफ प्रस्तावित कानून तैयार किया जा रहा है। यह मसौदा परीक्षण के लिए विधायी विभाग को भेज दिया गया है। इन कानून को अगली कैबिनेट बैठक में पेश किया जा सकता है। विभाग ने कानून का जो मसौदा तैयार किया है उसमें ‘लव जिहाद’ शब्द का जिक्र नहीं है। इसे गैर कानूनी धर्मांतरण निरोधक बिल कहा जा रहा है। राजनीतिक चर्चाओं में लव जिहाद कहे जाने वाले मामले को ही गैर कानूनी धर्मांतरण माना जाएगा और ऐसे मामले में दोषी पाए जाने पर 5 से 10 साल की सजा दी जा सकती है। 

देश से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें National News in Hindi


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें और Twitter पर फॉलो करें. 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here