Kisan Andolan Live: सरकार और किसानों के बीच बातचीत खत्म, अगले साल होगी अगली बैठक

कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन का आज 35वां दिन है। केंद्र सरकार और किसान संगठनों की सांतवें दौर की बैठक विज्ञान भवन में हो रही है।

0
199
Kisan Andolan Live
Kisan Andolan Live: सरकार और किसानों के बीच बातचीत खत्म, अगले साल होगी अगली बैठक

New Delhi: कृषि कानूनों (New Agriculture Law) के खिलाफ किसान आंदोलन का आज 35वां दिन है। केंद्र सरकार और किसान संगठनों की सांतवें दौर की बैठक विज्ञान भवन में हो रही है। इस बातचीत के दौरान किसानों ने सरकार को साफ कर दिया है कि उनकी बातचीत का एजेंडा (Kisan Andolan Live) सिर्फ वहीं होगा जो किसान तय करेंगे।

सातवीं दौर की बातचीत आज, क्या सरकार वापस लेगी कानून

इन सब के बीत न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत का कहना है कि विपक्ष भी उनके साथ सड़कों पर बैठे और आंदोलन करे। राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने कहा कि “देश में एक मजबूत विपक्ष की बहुत जरूरत है जिससे सरकार डरे लेकिन यहां ऐसा नहीं है। उन्होंने कहा कि विपक्ष के नेता भी टेंट लगाकर सड़कों पर आंदोलन शुरू करें।

LIVE UPDATES: 

– सरकार और किसानों के बीच सांतवें दौर की बातचीत खत्म, अगली बैठक 4 जनवरी को होगी

– किसान नेताओं ने इस बैठक में प्रदर्शन के दौरान मारे गए किसानों और उनके परिवारों के लिए न्याय और मुआवजे के लिए केंद्र सरकार से मांग की है।

– कृषि कानूनों पर किसान नेताओं के साथ बातचीत जारी है। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और रेल मंत्री पीयूष गोयल विज्ञान भवन में किसानों से बात कर रहे हैं। विज्ञान भवन में हो रही इस बैठक में हिस्सा लेने के लिए 40 किसान संगठन पहुंचे हैं। किसान संगठनों की मांग है कि तीनों कानून वापस होने चाहिए।

– किसान नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल केंद्र सरकार से बातचीत के लिए विज्ञान भवन पहुंचा एक किसान नेता ने कहा “हमारा रुख स्पष्ट है कि तीनों कृषि कानूनों को वापस लिया जाना चाहिए।

देश से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें National News in Hindi 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here