दिल्ली बॉर्डर पर किसानों का धरना जारी, राजधानी में जाने से किया इंकार

विरोध प्रदर्शन थमने का नाम नही ले रहा, प्रदर्शनकारियों को तीन दिन हो चुके है, इसके बाद भी किसान अपनी बात पर अड़े हुए है।

0
511
Kisan Andolan 2020
विरोध प्रदर्शन थमने का नाम नही ले रहा, प्रदर्शनकारियों को तीन दिन हो चुके है, इसके बाद भी किसान अपनी बात पर अड़े हुए है।

New Delhi: कृषि बिल को लेकर विरोध प्रदर्शन थमने का नाम नही (Kisan Andolan 2020) ले रहा, प्रदर्शनकारियों को तीन दिन हो चुके है, इसके बाद भी किसान अपनी बात पर अड़े हुए है। किसान आज भी दिल्ली बॉर्डर सिंघु और टीकरी पर प्रदर्शन कर रहे हैं। तमाम कोशिशो के बाद सिंघु बॉर्डर की तरफ से किसानों को दिल्ली में एंट्री मिल गई थी। लेकिन किसानों ने दिल्ली जाने से मना कर दिया, साथ ही कहा कि ‘दिल्ली को घेरने आए हैं, ना कि घिर जाने’। आपको बता दें शुक्रवार की रात भारी संख्या में किसान सिंघु बॉर्डर पर ही रहे। खास बात यहा है कि उनमे से एक किसान ने कहा कि हमारे पास 6 महीनें का राशन (Kisan Andolan 2020) है। किसानों के खिलाफ बना काला कानून वापिस लेकर ही जाएंगे। 

‘दिल्ली मार्च’ पर निकले किसान, सभी सीमाएं सील

क्यों कर रहे है प्रदर्शन-

केंद्र सरकार ने कृषि सुधारों के लिए 3 कानून द फार्मर्स प्रोड्यूस ट्रेड एंड कॉमर्स (प्रमोशन एंड फेसिलिटेशन) एक्ट; द फार्मर्स (एम्पावरमेंट एंड प्रोटेक्शन) एग्रीमेंट ऑफ प्राइज एश्योरेंस एंड फार्म सर्विसेस एक्ट और द एसेंशियल कमोडिटीज (अमेंडमेंट) एक्ट बनाए थे। इनके विरोध में पंजाब और हरियाणा के किसान पिछले दो महीनों से सड़कों पर उतर हुए हैं। किसानों को लगता है कि सरकार MSP हटाने वाली है, जबकि खुद पीएम मोदी इससे बात से इंकार कर चुके है। 

वाटर कैनन, आंसू गैस के बावजूद नहीं रुके किसानों के कदम, विरोध जारी

एक तरफ दिल्ली, पंजाब, हरियाणा में किसानों ने अपना मोर्चा खोल (Kisan Andolan 2020) रखा है, तो वहीं दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश में भी किसानों ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। मुजफ्फरनगर मेरठ और दूसरी जगह से भी कुछ इसी तरह की तस्वीरें देखने को मिल रही हैं। शुक्रवार को बागपत में किसानों को रोकने के लिए भारी पुलिस बल तैनात है। यूपी-हरियाणा बॉर्डर छावनी में तब्दील हो गया है। बता दें शुक्रवार को क्रांतिकारी किसान यूनियन के अध्‍यक्ष दर्शन पाल ने बताया कि, “हमें दिल्‍ली आने की इजाजत मिल गई है।” उन्‍होंने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने बुराड़ी में आंदोलन की इजाजत दी थी। लेकिन अब दिल्ली जाने से साफ इंकार कर रहे है। 

देश से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें National News in Hindi 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें. 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here