कोयला घोटाले में फंसे दिलीप रे दोषी करार, बीजेपी में थे मंत्री

पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी एनडीए की सरकार में मंत्री रहे दिलीप रे को दिल्ली की अदालत ने दोषी करार कर दिया है।

0
175
India Coal Scam Case
पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी एनडीए की सरकार में मंत्री रहे दिलीप रे को दिल्ली की अदालत ने दोषी करार कर दिया है।

New Delhi: पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी एनडीए की सरकार में मंत्री रहे दिलीप रे को दिल्ली की अदालत ने दोषी करार कर दिया है। बता दें कि दिलप रे पर कोयला घोटले का केस (India Coal Scam Case) चल रहा था। पूरा मामला झारखंड का है। साथ ही बता दें कि यह मामला (India Coal Scam Case) 1999 में कोयला ब्लॉक के आवंटन से संबंधित है। 

कोर्ट ने अप्रैल, 2017 में दिलीप रे (India Coal Scam Case) के अलावा कोयला मंत्रालय में रहे तब के दो वरिष्ठ अधिकारियों प्रदीप कुमार बनर्जी और नित्यानंद गौतम के साथ-साथ कैस्ट्रॉन टेक्नॉलजीज लिमिटेड, और उसके डायरेक्टर महेंद्र कुमार अग्रवाल के खिलाफ (India Coal Scam Case) धोखाधड़ी, आपराधिक साजिश का आरोप लगाया गया था। 

PFI से जुड़े 4 लोग गिरफ्तार, UP में माहौल बिगाड़ने का लगा आरोप

उस वक्त अदालत का कहना था कि आरोपियों के खिलाफ मुकदमा (India Coal Scam Case) शुरू करने के लिए प्रमाण दिया गया था। दिलीप रे अटल बिहारी सरकार में कोयला राज्यमंत्री थे जबकि प्रदीप कुमार बनर्जी कोयला मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव और परियोजना सलाहकार थे। आरोपियों ने उस समय खुद को निर्दोष बताते हुए मुकदमा शुरू करने की अपील की थी। मामले की जांच कर रही सीबीआई ने कहा था कि रे ओडिशा में विधायक हैं और सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार मुकदमा दैनिक आधार पर चलाया जाना चाहिए।

यह मामला 1999 में झारखंड के गिरिडीह में ब्रह्माडीहा कोल ब्लॉक (Coal Block Case) का आवंटन सीटीएल को किए जाने से संबंधित है। अदालत ने कोयला मंत्रालय के तत्कालीन दो वरिष्ठ अधिकारी, प्रदीप कुमार बनर्जी और नित्या नंद गौतम, कैस्ट्रोन टेक्नोलॉजीज लिमिटेड (सीटीएल), इसके निदेशक महेंद्र कुमार अग्रवाल और कैस्ट्रॉन माइनिंग लिमिटेड (CML) को भी दोषी ठहराया गया था। 

पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे आप सांसद संजय सिंह पर फेंकी गई स्याही

अदालत इस सजा के संबंध में 14 अक्टूबर को सबकी दलीलें सुनेगी। और दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दी जाएगी। दसअसल जिस वक्त यह घोटाला (Coal Block Case) हुआ था। उस वक्त देश में बीजेपी की सरकार थी। खास बता यह है कि घोटले के समय पीएम की पोस्ट पर अटल बिहारी वाजपेयी हुआ करते थे। यानी वाजपेयी के नाक के नीचे घोटले होते रहे।


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here