चीन से तनाव के बीच भारत ने की तैयारी, लद्दाख में बनाई सुरंगें

भारतीय सेना ने चीन की युद्ध मैन्युअल को छान मारा है और ड्रैगन के किसी भी कदम को फेल करने के लिए लद्दाख में 'टनल डिफेंस' तैनात कर दिया है।

0
111
India-China Standoff
चीन से तनाव के बीच भारत ने की तैयारी, लद्दाख में बनाई सुरंगें

New Delhi: पूर्वी लद्दाख (Northern Ladakh) में भारत और चीन के बीच मई से सीमा विवाद (India-China Standoff) जारी है। चीन प्रॉपगैंडा के इस्तेमाल से खुद को बेहतर साबित करने में जुटा हुआ है। हाल ही में लद्दाख में झड़प के दौरान चीनी मीडिया ने माइक्रोवेव हथियारों के इस्तेमाल की फर्जी कहानी गढ़ी थी। चीन के इतिहास को देखते हुए भारतीय सेना अभी भी कोई कोताही नहीं बरत रही और पूर्वी लद्दाख के डिस-एंगेजमेंट प्रोसेस को बहुत ध्यान से देख रही है।

लद्दाख पहुंचे आर्मी चीफ, पैंगोंग में आमने-सामने है सेनाएं

इसी बीच अब भारतीय सेना ने चीन की युद्ध मैन्युअल को छान मारा है और ड्रैगन के किसी भी कदम को फेल करने के लिए लद्दाख में ‘टनल डिफेंस’ तैनात कर दिया है। एक न्यूज रिपोर्ट के मुताबिक चीनी सेना ने जापान के खिलाफ दूसरी जंग में इसी तरकीब का इस्तेमाल किया था। एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि PLA ने ल्हासा एयरबेस पर एयरक्राफ्ट तैनात करने के लिए टनल बनाए हैं और दक्षिण चीन सागर में न्यूक्लियर बैलिस्टिक सबमरीनों को रखने के लिए हैनान टापू पर अंडरग्राउंड तैयारी की गई है।

सीनियर मिलिट्री कमांडरों के मुताबिक भारतीय सेना ने बड़े डायमीटर के ह्यूम रीइंफोर्स्ड कंक्रीट पाइप टनल (Hume) में लगाए हैं ताकि सैनिकों को दुश्मन के हमले से बचाया जा सके और मुसीबत की स्थिति में हमला भी किया जा सके। सुरंगों का अन्य फायदा यह भी है कि (India-China Standoff) उन्हें गर्म किया जा सकता है और तापमान काफी कम हो जाने और बर्फ के बर्फीले तूफान से सैनिकों को आश्रय दिया जा सकता है।

G-20 Summit: पीएम मोदी बोले- द्वितीय विश्व युद्ध के बाद कोविड-19 सबसे बड़ी चुनौती

बता दें कि चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (People’s Liberation Army) की प्रोपेगेंडा मशीन ने 29 अगस्त को फ्यूचरिस्टिक ऊर्जा हथियारों के जरिए पूर्वी लद्दाख में भारतीय सैनिकों को निशाना बनाए जाने की सूचना दी थी।वहीं, जब चीनी मीडिया ने प्रोपेगेंडा फैलाने के लिए माइक्रोवेव हथियारों के इस्तेमाल की फर्जी कहानी बनाई तो उसे फौरन ही भारतीय सेना ने फेक न्यूज भी करार दिया।

देश से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें National News in Hindi 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here