भारत-चीन के बीच जल्द खत्म हो सकता है युद्ध, पीछे हट सकते हैं दोनों देश

पूर्वी लद्दाख में लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LOC) पर छह महीने के बाद भारत-चीन के बीच बात बनती हुई नजर आ रही है।

0
545
India-China Dispute
चीन का बड़ा कबूलनामा, बताया गलवान घाटी में मारे गए थे कितने सैनिक?

New Delhi: पूर्वी लद्दाख में लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LOC) पर छह महीने के बाद भारत-चीन (India-China Dispute) के बीच बात बनती हुई नजर आ रही है। जानकारी के मुताबिक 6 नवंबर को कॉर्प्स कमांडर स्तर की आठवें दौर की बातचीत में दोनों देशों के बीच तनाव खत्म करने का रास्ता तलाशने में कामयाब रहे हैं। एशिया के दो शक्तिशाली देश पिछले कई महीनों से युद्ध कर रहे हैं। जून में दोनों सेनाओं के बीच हिंसक झड़प (India-China Dispute) हो चुकी है। लेकिन अब मामला शांन्त होता दिखाई दे रहा है। 

पीएम मोदी ने किया ‘रोपैक्स’ फेरी सेवा का उद्घाटन, जाने क्या है खास

रक्षा सूत्रों की माने तो ”अगले कुछ दिनों में दोनों देश तनाव वाले कुछ इलाकों से (India-China Dispute) हट सकते हैं, और सही तरीके से ऐसा करने के लिए तौर-तरीकों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। हालांकि, भारतीय पक्ष इस मामले में सावधानी पूर्वक आगे बढ़ रहा है, क्योंकि भारत चाहता है कि चर्चाओं और समझौतों को जमीन पर लागू किया जाए।”जून में भी दोनों पक्षों ने पीछे हटने पर सहमित बनाई थी, लेकिन इसी दौरान गलवान घाटी में हिंसक झड़प हुई थी। झड़प में 20 भारतीय सैनिक शहीद हो गए थे। चीन के भी कई सैनिक मारे गए थे। हालांकि, चीन ने अभी तक यह स्वीकार नहीं किया है कि उसके कितने सैनिक मारे गए।

वैसे दोनों देशों ने रविवार को संयुक्त बयान जारी कर कोर कमांडर स्तर की आठवें दौर की बातचीत (India-China Dispute) के बारे में जानकारी देते हुए इसे सकारात्‍मक बताया है। दोनों पक्षों का कहना है कि चुशुल सेक्टर में बहुत ही खुल कर, विस्तार से बातचीत हुई है। दोनो पक्ष इस पर भी सहम‍त हैं कि सैन्य बलों की तरफ से संयम बरतने और एक दूसरे के साथ गलतफहमी दूर करने को लेकर दोनों देशों के शीर्ष नेताओं के बीच बनी सहमति को लागू किया जाए। 

कोरोना के दैनिक मामलों में आ रही गिरावट, जानें जरूरी आंकड़े

बता दें कि पूर्वी लद्दाख के विभिन्न पहाड़ी इलाकों (India-China Dispute) में करीब 50 हजार भारतीय सैनिक शून्य से भी नीचे तापमान में युद्ध की उच्‍च तैयारी के साथ मुस्‍तैदी से तैनात हैं। चीन ने भी लगभग इतने ही सैनिकों को मोर्चे पर तैनात कर रखा है। जानकारी के मुताबिक भारतीय सेना ने वार्ता के दौरान पूर्वी लद्दाख में टकराव वाली सभी जगहों से चीनी सैनिकों की जल्‍द से जल्‍द वापसी पर जोर दिया। भारत पहले ही साफ कर चुका है कि वह एलएसी में कोई बदलाव स्वीकार नहीं करेगा। 

देश से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें National News in Hindi 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here