लद्दाख की ठंड ने तोड़ा चीन का मनोबल, भारत के जवान वहीं डटे

पूर्वी लद्दाख में एलएसी पर भारत और चीन के हजारों सैनिक कड़ाके की सर्दी में भी तैनात है। दोनों देशों के बीच वार्ता जारी है।

0
338
India-China Border News
लद्दाख की ठंड ने तोड़ा चीन का मनोबल, भारत के जवान वहीं डटे

New Delhi: पूर्वी लद्दाख (East Ladakh) में एलएसी पर भारत और चीन दोनों के बीच वार्ता जारी है। दोनों देशों के हजारों सैनिक कड़ाके की सर्दी में भी एलएसी पर तैनात (India-China Border News) है। सूत्रों का कहना है कि एलएसी के पास कठोर मौसम में तैनात चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के जवानों का मनोबल कम हुआ है वहीं, भारतीय सेना के जवान अपने स्थान पर डटे हुए हैं।

लद्दाख सीमा पर भारत-चीन के बीच बनी सहमति, पीछे हटने को तैयार

दरअसल बढ़ती ठंड के कारण फॉरवर्ड पोजिशनों पर चीन के सैनिक हर रोज बदले जा रहे हैं जबकि भारत की तरफ से उन्हीं लोकेशंस पर सैनिक काफी लंबे वक्त तक टिक रहे हैं। एक सरकारी सूत्र ने न्यूज एजेंसी एएनआई से कहा, ‘एलएसी के फॉरवर्ड पोस्ट्स पर तैनात हमारे जवान चीनी सैनिकों की तुलना में काफी समय तक तैनात रह रहे हैं।

मालूम हो कि अप्रैल-मई के महीने से भारत और चीन (India-China Border News) के बीच पूर्वी लद्दाख में विवाद शुरू हुआ हो गया था। चीन की तरफ से भारी हथियार और टैंक के साथ करीब 60 हजार सैनिकों को पूर्वी लद्दाख में भारतीय सीमा से लगते एलएसी पर तैनात कर दिया गया था। जिसके बाद भारतीय सेना ने भी करीब इतनी ही संख्या में वहां पर अपने जवानों को तैनात कर दिया था।

भारत-चीन विवाद पर अमेरिका ने दिया भारत का साथ, जानिए चीन ने क्या कहा

दोनों देशों के बीच (India-China Issue) 15 जून को गलवान घाटी में भारी हिंसक झड़प हुई थी, जिसमें भारत के 20 जवान शहीद हो गए। चीन ने अपने 43 सैनिकों के मारे जाने की बात कही गई थी। बता दें कि चीनी सेना ने इस दौरान कई भारतीय पेट्रोलिंग प्वाइंट पर कब्जा किया था। इस बीच तनाव कम करने के लिए दोनों ही पक्षों के बीच बातचीत का सिलसिला जारी है। अब तक दोनों देशों के बीच कोर कमांडर लेवल की 7 राउंड की सैन्य वार्ता हो चुकी है।

दुनिया से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें World News In hindi 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here