कोरोना वैक्सीन को लेकर अच्छी खबर, इतने दिनों में आएगी वैक्सीन

केंद्र सरकार ने पहले ही SII को संकेत दे दिए हैं कि वह उससे सीधे वैक्सीन खरीदेगी और भारतीयों को फ्री में टीका लगवाये जाएगे।

0
224
Corona Vaccine For Kids
बच्चों के लिए कोरोना वैक्सीन बनाएगा चीन, इस शुरु होगा ट्रायल

Delhi: दुनियाभर में कोरोना वायरस (Corona Virus) का कहर जारी है और वैक्सीन (Corona Vaccine Update) का बेसब्री से इंतजार किया जा रहा है। लेकिन इसी बीच भारत की पहली कोविड वैक्सीन (Covid 19 Vaccine) को लेकर अच्छी खबर आ रही है। जानकारी के मुताबिक भारत की पहली कोरोना वैक्सीन ‘कोविशील्ड’ (Covishield) 73 दिनों में आ जाएगी। इसे पुणे की कंपनी सीरम इंस्टिट्यूट बना रही है। और राष्ट्रीय टीकाकरण कार्यक्रम के तहत भारत सरकार अपने नागरिकों को मुफ्त में टीके लगाए जाएगे।

दाऊद इब्राहिम पर पाकिस्तान का यू-टर्न, कहा ये..

सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (SII) के एक अधिकारी ने बताया, ‘सरकार ने हमें एक विशेष निर्माण प्राथमिकता लाइसेंस दिया है और ट्रायल (Covid 19 Vaccine) प्रोटोकॉल की प्रक्रिया को तेज कर दिया गया है जिससे 58 दिनों में ट्रायल पूरा किया जा सके। इसके तहत फाइनल फेज (तीसरा चरण) में ट्रायल का पहला डोज आज से दिया गया है। दूसरा डोज 29 दिनों के बाद दिया जाएगा। फाइनल ट्रायल डेटा दूसरा डोज दिए जाने के 15 दिनों के बाद आएगा। इस अवधि के बाद हम कोविशील्ड (Covishield) को बाजार में लाने की योजना बना रहे हैं।’

पार्टी में बदलाव के लिए 23 नेताओं की कांग्रेस को चिट्ठी

इससे पहले तीसरे चरण के ट्रायल में कम से कम 7-8 महीने लगने की बात कही जा रही थी। 17 सेंटरों पर 1600 लोगों के बीच यह ट्रायल 22 अगस्त से शुरू हुआ है। हर सेंटर पर करीब 100 वालंटियर हैं। उधर, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने भी कहा है कि हमारी एक कोविड-19 वैक्सीन कैंडिडेट क्लिनिकल ट्रायल के तीसरे चरण में है। उन्होंने आगे कहा, ‘हम पूरी तरह से आश्वस्त हैं कि इस साल के अंत तक वैक्सीन बनकर तैयार हो जाएगी।’ सूत्रों का कहना है कि यह वैक्सीन सीरम इंस्टिट्यूट की होगी। कंपनी ने एस्ट्राजेनेका (AstraZeneca Agreement with Serum Institute) नामक कंपनी के साथ एक एक्सक्लूसिव अग्रीमेंट कर अधिकार खरीदे हैं ताकि इसे भारत और 92 अन्य देशों में बेचा जा सके। इसके बदले में सीरम इंस्टिट्यूट कंपनी को रॉयल्टी फीस देगी।

संदिग्ध आतंकी यूसुफ की निशानदेही बड़ी साजिश का पर्दाफाश

केंद्र सरकार ने पहले ही SII को संकेत दे दिए हैं कि वह उससे सीधे वैक्सीन खरीदेगी और भारतीयों को फ्री में टीका लगवाने की योजना पर काम चल रहा है। केंद्र ने अगले साल जून तक सीरम इंस्टिट्यूट से 130 करोड़ भारतीयों के लिए 68 करोड़ डोज मांगे हैं। बाकी के लिए माना जा रहा है कि सरकार ट्रायल में सफल होने के बाद ICMR और भारत बायोटेक द्वारा विकसित की जा रही ‘कोवैक्सीन’ और जाइडस कैडिला की ‘ZyCoV-D’ के लिए ऑर्डर दे सकती है

अमेरिका तैयार कर रहा है एक नया कोरोना वायरस स्ट्रेन

सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया दुनिया की सबसे बड़ी टीका निर्माता कंपनी है। यह हर साल 1.5 अरब वैक्सीन डोज तैयार करती है जिनमें पोलियो से लेकर मीजल्स तक के टीके शामिल हैं। बिल एवं मिलिंडा गेट्स फाउंडेशन भी सीरम को करीब 1125 करोड़ रुपये की फंडिग करने को राजी हो गया है, जिससे कंपनी कोविड-19 वैक्सीन के करीब 10 करोड़ डोज बनाए और उसे गरीब देशों में भेजा जा सके। सूत्रों का कहना है कि इससे SII को एक डोज की कीमत को 1000 रुपये से अधिक से घटाकर करीब 250 रुपये के आसपास करने में मदद मिलेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here