Goa Libration Day: 450 साल के पुर्तगाली शासन का जानें इतिहास

क्या आपको पता है कि गोवा हमेशा से स्वतंत्र भारत का हिस्सा नही रहा था। गोवा को साल 1961 में आजादी मिली थी।

0
167
Goa Libration Day 2020
क्या आपको पता है कि गोवा हमेशा से स्वतंत्र भारत का हिस्सा नही रहा था। गोवा को साल 1961 में आजादी मिली थी।

Goa Libration Day: जब भी आप छुट्टीयों पर जाने की सोचते है तो पहला नाम आप की जुबा पर गोवा जाने का जरुर आता होगा। लेकिन क्या आपको पता है कि गोवा हमेशा से स्वतंत्र भारत (Goa Libration Day 2020) का हिस्सा नही रहा था। गोवा को साल 1961 में आजादी मिली थी और इसके बाद यह एक भारतीय राज्य बन गया। 

उत्तर भारत में शीतलहर का प्रकोप, हफ्ते भर रहेगी ठिठुरन वाली ठंड

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट के जरिए गोवा के लोगों को बधाई दी और लिखा कि गोवा की आजादी (Goa Libration Day 2020) की वर्षगांठ के अवसर पर, राज्य के भाईयों और बहनों को शुभकामनाएं। प्रधानमंत्री मोदी ने आगे लिखा कि हम उन लोगों की बहादुरी को याद करते हैं, जिन्होंने गोवा को मुक्त कराने के लिए मेहनत की। 

क्या है इतिहास-

गोवा में स्वतंत्रता दिवस मनाने के लिए गोवा मुक्ति दिवस मनाया (Goa Libration Day 2020) जाता है। गोवा भारत के दक्षिण-पश्चिमी तट का एक राज्य है, जिसे कोंकण के नाम से भी जाना जाता है। यह उत्तर और पूर्व में स्थित है, साथ ही अरब सागर से भी जुड़ता हुआ नजर आता है। गोवा की राजधानी पणजी है। कब्जे से मुक्त होने के बाद, यह 1962 में भारत का हिस्सा बन गया और 1987 में आधिकारिक रूप से इसे एक स्वतंत्र राष्ट्र के रुप में जाना जाने लगा। 

बता दें 15 अगस्त 1947 को जब भारत को स्वतंत्रता मिली थी। तब से गोवा 450 सालों के पुर्तगाली शासन में (Goa Libration Day 2020) फंसा हुआ था। पुर्तगाली शासन के दौरान भारत के कुछ हिस्सों का उपनिवेश बनाने वाले थे और उन्होंने भारत की स्वतंत्रता के मद्देनजर गोवा और बाकी भारतीय क्षेत्रों पर अपनी पकड़ बनाने से पूरी तरह मना कर दिया था। 

देश में 1 करोड़ के पार कोरोना केस, रिकवरी रेट बढ़कर 95.46% पहुंचा

कैसे मनाया जाता है?

जैसे किसी त्योहार को मनाया जाता है वैसे ही गोवा मुक्ति दिवस गोवा में जश्न और उत्सव की तरह मनाया जाता है। राज्य में तीन अलग-अलग स्थानों से एक मशाल जुलूस निकाला जाता है, ये सभी आजाद मैदान में मिलते हैं। जहां उन लोगों को श्रद्धांजलि दी जाती है, जिन्होंने गोवा को स्वतंत्र करने के लिए अपनी जाने गवा दी थी। 

देश से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें National News in Hindi 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here