Air Quality: ‘पटाखों’ ने किया बुरा हाल, दिवाली पर दिल्ली की हवा में घुला ‘जहर’

0
62

Air Quality: दिल्ली में दीवाली के बाद की सुबह प्रदूषण का गंभीर खतरा लेकर आई है। बता दें की दिल्ली-एनसीआर में रातभर हुई आतिशबाजी के बाद हवा की क्वालिटी बताने वाला एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) वैरी पुअर की कैटेगरी में पहुंच गया है। देर रात को आतिशबाजी की वजह से दिल्ली का एक्यूआई रेड जोन में आ गया है।

2018 में इतना था AQI

दिल्ली में हवा की क्वालिटी पिछले 36 घंटे में कैसे बदली इसे आप आंकड़ों से समझ सकते हैँ। रविवार की शाम को दिल्ली का AQI 259 था। ये दिल्ली में पिछले 7 सालों की सबसे शुद्ध हवा थी। 2018 में दिवाली के दिन दिल्ली का AQI 281 रिकॉर्ड किया गया था।

AQI खतरनाक हुआ खतरनाक

लेकिन इस साल जैसे  ही दिवाली की शाम नजदीक आई AQI लेवल खतरनाक होता चला गया। वहीं सोमवार को सुबह 8 बजे दिल्ली का AQI बढ़कर 301 हो गया। मंगलवार सुबह को दिल्ली का औसत AQI 323 पर चला गया। बात करें दिल्ली के अलग अलग इलाकों की तो सुबह AQI  350 के पार था। कई जगहों पर तो इसका आकंड़ा 400 के भी पार कर गया। दिल्ली को प्रदूषण से बचाने के लिए  हवाओं के रूख का बड़ा योगदान रहा, जो धुंआ पटाखों से निकला था, वो धुआं हवा  दिल्ली से बहाकर ले गई।

10 गुणा ज्यादा प्रदूषित हुई दिल्ली

दिवाली की रात तो दिल्ली की हवा सामान्य से 10 गुणा ज्यादा प्रदूषित थी। दिल्ली प्रदूषण कंट्रोल कमिटी के रियल टाइम डेटा के मुताबिक दिल्ली के जहांगीरपुरी में दिवाली की रात 10.30 बजे सामान्य से हवा 10 गुना ज़्यादा प्रदूषित थी।

सोमवार शाम होते ही दिल्ली के कई इलाकों में प्रतिबंध के बावजूद पटाखे जलने शुरू हो गए थे। दिल्ली में हवा की स्थिति और भी खराब हो सकती थी, अगर हवाओं के रूख ने दिल्ली-एनसीआर को राहत न दी होती।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here