डिजिटल पेमेंट को लेकर वित्त मंत्रालय की बैकों को सलाह, बदला ये शुल्क

CBDT ने कहा कि नियम के तहत वित्त मंत्रालय ने सभी बैंकों को सलाह दी है कि यदि उन्होंने 1 जनवरी 2020 से ग्राहकों से इलेक्ट्रॉनिक मोड से लेनदेन पर शुल्क वसूल किया है

0
230
Digital Payment
अब ऑनलाइन पेमेट को लेकर वित्त मंत्रालय की बैकों को सलाह, बदल ये शुल्क

Delhi: केंद्रीय वित्त मंत्रालय (Finance Ministry) ने सभी बैंकों को इलेक्ट्रॉनिक या UPI (Digital Payment) द्वारा किये गये लेनदेन पर शुल्क ना लेने सलाह दी है। सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज ने बैकों को कहा है कि इलेक्ट्रॉनिक मोड से होने वाले लेनदेन पर कोई शुल्क ना वसूल किया जाए। साथ ही यह भी कहा गया है कि यदि उन्होंने ऐसा कोई शुल्क वसूल किया है तो लौटा दें। यह जानकारी रविवार को सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज (CBDT) ने एक बयान के जरिए दी है।

दिल्ली में इन नियमों के साथ शुरु होगी मेट्रो

आपको बता दें कि कुछ बैक सीमित लेनदेन के बाद हर लेनदेन पर शुल्क वसूलते है। CBDT के मुताबिक, उसके सामने भी यह मुद्दा उठाया गया था कि कुछ बैंक UPI (Digital Payment) के जरिए होने वाले लेनदेन पर शुल्क वसूल कर रहे हैं। निश्चित संख्या में मुफ्त लेनदेन के बाद बैंक हर ट्रांजैक्शन पर शुल्क वसूल करते हैं। इस रिलीज में कहा गया है, ”यह 30 दिसंबर 2019 के सर्कुलर नंबर 32/2019 का उल्लंघन है, जिसे CBDT ने यह स्पष्ट करने के लिए जारी किया था कि पेमेंट एंड सेटलमेंट सिस्टम (PSS) एक्ट की धारा 10A के आधार पर 1 जनवरी 2020 से इलेक्ट्रॉनिक मोड से पेमेंट पर कोई भी शुल्क वसूल नहीं किया जाएगा, जिसमें मर्चेंट डिस्काउंट रेट (MDR) शामिल है।

राहुल गांधी का तंज, ‘मन की बात’ पर खिलौने पर चर्चा कर गए पीएम मोदी

CBDT ने कहा कि इसी नियम के तहत वित्त मंत्रालय ने सभी बैंकों को सलाह दी है कि यदि उन्होंने 1 जनवरी 2020 से ग्राहकों से इलेक्ट्रॉनिक मोड से लेनदेन पर शुल्क वसूल किया है उसे तुरंत लौटा दिया जाए। साथ ही भविष्य में शुल्क नहीं लगाने को कहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here