Krishi Bill 2020: कृषि बिल के खिलाफ आज भारत बंद, सड़कों पर उतरे किसान

कृषि बिल के विरोध कर रहे किसानों का आंदोलन तेज होता जा रहा है। किसान संगठनों ने शुक्रवार को भारत बंद आह्वान किया है।

0
368
Bharat Bandh
कृषि बिल के खिलाफ आज भारत बंद, सड़कों पर उतरे किसान

New Delhi: संसद में हाल में पास हुए कृषि बिल (Krishi Bill 2020) के खिलाफ किसान संगठनों ने शुक्रवार को भारत बंद (Bharat Bandh) आह्वान किया है। भारतीय किसान यूनियन समेत विभिन्न किसान यूनियनों ने ऐलान किया है कि इस बिल के खिलाफ वे आज चक्का जाम करेंगे। माना जा रहा है कि इस प्रदर्शन को कांग्रेस समेत कई विपक्षी दलों का भी समर्थन हासिल है। बताया जा रहा है कि भारत बंद के लिए 31 किसान संगठनों ने हाथ मिलाया है।

कृषि बिल को लेकर विरोध जारी, उपचुनाव में किसका साथ देंगे किसान?

किसानों के इस भारत बंद (Bharat Bandh) में पंजाब, हरियाणा, यूपी, महाराष्ट्र समेत देश के अन्य राज्यों के किसान शामिल होने जा रहे हैं। पंजाब के मुख्यमंत्री ने किसानों से प्रदर्शन को शांतिपूर्ण रखने की अपील की है। वहीं पंजाब में किसान रेल रोको आंदोलन चला रहे हैं। भारतीय किसान यूनियन ने पहले ही ऐलान कर दिया है कि कृषि बिल (Kisan Bill 2020)  के खिलाफ भारत बंद को उसका पूर्ण समर्थन रहेगा। पंजाब में इस बिल का विरोध काफी पहले से जारी है।

कृषि बिल का विरोध करते हुए बिहार के RJD नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि सरकार ने हमारे ‘अन्नदाता’ को ‘निधि दाता’ के माध्यम से कठपुतली बना दिया है। #FarmBills किसान विरोधी हैं और इसलिए वो इसका विरोध कर रहे हैं। सरकार ने कहा था कि वे 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करेंगे, लेकिन ये बिल उन्हें गरीब बना देंगा। बिल के माध्यम से कृषि क्षेत्र का कॉर्पोरेटकरण किया गया है।

कांग्रेस ने कृषि बिल का विरोध करते हुए कहा कि शुक्रवार को भारत बंद में उसके लाखों कार्यकर्ता किसानों के साथ धरने में शामिल होंगे। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि किसान पूरे देश का पेट भरते हैं, लेकिन मोदी सरकार किसानों के खेत पर हमला कर रही है। कांग्रेस पार्टी ने तय किया है कि शुक्रवार को हर राज्य में विरोध मार्च निकाला जाएगा।

ये भी पढ़ें- कृषि बिल के विरोध में किसानों ने किया ‘रेल रोको’ आंदोलन, कई ट्रेनें रद्द

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here