वाटर कैनन, आंसू गैस के बावजूद नहीं रुके किसानों के कदम, विरोध जारी

केंद्र सरकार ने कृषि कानून पास तो करा दिया है, लेकिन इस बिल को लेकर अब भी किसान विरोध Farmers Protest करने में लगे हुए है।

0
595
Farmers Protest
केंद्र सरकार ने कृषि कानून पास तो करा दिया है, लेकिन इस बिल को लेकर अब भी किसान विरोध Farmers Protest करने में लगे हुए है।

New Delhi: केंद्र सरकार ने कृषि कानून पास तो करा दिया है, लेकिन इस बिल को लेकर अब भी किसान विरोध (Farmers Protest)  करने में लगे हुए है। कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली चलो मार्च के तहत किसाना सड़कों पर उतर आए हैं। पंजाब से लेकर हरियाणा की सड़कों पर किसानों का गुरुवार को हल्लाबोल जारी रहा। किसान दिल्ली कूच करने के लिए अड़े (Farmers Protest) हुए हैं। पुलिस की तमाम कोशिशों के बाबजूद किसान प्रदर्शन रोकने को तैयार नहीं है। 

‘दिल्ली मार्च’ पर निकले किसान, सभी सीमाएं सील

बता दें किसानों को रोकने के लिए भारी संख्या में पुलिसबलों की तैनाती की गई है और कई जगहों पर किसानों को आगे बढ़ने से रोकने (Farmers Protest) के लिए पुलिस को वाटर कैनन और आंसू गैस के गोलों का भी प्रयोग करना पड़ा। हालांकि, तब भी किसान आगे बढ़ते जा रहे हैं। अब किसान दिल्ली के करीब पहुंच आए हैं और आज किसी भी वक्त राजधानी में आ सकते हैं।

मेट्रो सेवा आज भी बंद-

प्रदर्शन के वजह से दिल्ली से एनसीआर के अन्य शहरों के लिए मेट्रो सेवा चालू रहेगी, वहीं पड़ोसी शहरों से दिल्ली के लिए मेट्रो सेवा शुक्रवार को बंद (Farmers Bill 2020) रहेगी। तो वहीं किसानों के समर्थन में जंतर-मंतर पर प्रदर्शन कर रहे एक समूह के करीब 70 लोगों को पुलिस ने कल हिरासत में लिया। प्रदर्शन करने वालों में वामपंथी ट्रेड यूनियन के सदस्य, एसएफआई के सदस्य और जवाहर लाल नेहरु विश्वविद्यालय के छात्र शामिल थे। खास बात यह है कि कई जगह पर पुलिस ने किसानों को रोकने के लिए रास्ते तक को खोद दिया है। पुलिस और किसानों के बीच झड़प से कल कई किलोमीटर तक लंबा जाम देखने को मिला, जिससे आम यात्रियों को भी परेशानी का झेलनी पड़ी। 

कृषि बिल पर किसानों का रोष जारी, प्रदर्शन में योगेंद्र यादव शामिल

गुड़गांव में स्वराज इंडिया के अध्यक्ष योगेंद्र यादव और प्रदर्शनकारियों (Farmers Bill 2020) के एक समूह को पुलिस ने हिरासत में लिया है, क्योंकि वे दिल्ली की तरफ मार्च करने की कोशिश कर रहे थे। हालांकि, बाद में उन्हें जमानत मिल गई। दिल्ली पुलिस ने बुधवार को कहा था कि उसने किसान संगठनों को राष्ट्रीय राजधानी में 26 और 27 नवंबर को प्रदर्शन करने की अनुमति देने से इंकार कर दिया है। किसानों को जमा होने से रोकने के लिए बीजेपी शासित हरियाणा में गुरुवार को कई जगहों पर धारा-144 लगा दी गई थी। आज किसानों के विरोध प्रदर्शन का दूसरा दिन हैं। 

देश से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें National News in Hindi 


देश और दुनिया से जुड़ी Hindi News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter पर फॉलो करें और Android App डाउनलोड करें. 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here